Breaking News

ओबामा के वादे पर आगे बढ़ने की तैयारी:जो बाइडेन क्यूबा की दुर्दांत ग्वांतानमो बे जेल बंद करना चाहते हैं, इसमें संदिग्ध आतंकियों को रखता है अमेरिका

दुनिया की सबसे खूंखार जेलों में शुमार क्यूबा की ग्वांतोनमो बे जेल को एक बार फिर बंद करने की कवायद हो रही है। राष्ट्रपति जो बाइडेन इसे बंद करने की संभावनाएं तलाश रहे हैं। व्हाइट हाउस प्रेस सचिव जेन साकी ने बताया कि बाइडेन का लक्ष्य अपना कार्यकाल खत्म होने से पहले इस जेल को बंद करना है।

नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के प्रवक्ता एमिली हॉर्न ने कहा कि विवादास्पद जेल बंद करने के लिए रक्षा विभाग, राज्य और न्याय विभागों के साथ मिलकर काम करेगा। राष्ट्रपति ओबामा ने अपने कार्यकाल में कहा था कि वे कांग्रेस में इस जेल को बंद करने का प्रस्‍ताव रखेंगे। उन्होंने यह भी कहा था कि यदि इसे मंजूदी नहीं दी गई तो वह अपने वीटो पॉवर का इस्तेमाल करेंगे।

हालांकि, वे मंशा पूरी नहीं कर सके। पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प इसे बंद करने के इच्छुक नहीं थे। क्यूबा स्थित अमेरिकी सैन्य अड्‌डे से लगी ग्वांतानामो बे में 40 कैदी ऐसे हैं। अमेरिका में 11 सितंबर 2001 के आतंकी हमलों के बाद तत्कालीन जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने संदिग्ध आतंकियों को पकड़कर इसी में बंद किया था। 2002 में इस जेल की कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई थीं, जिन्हें लेकर अमेरिका को आलोचना का सामना करना पड़ा था।

6 गुणा 6 फीट के पिंजरे में ठूंसे 12 कैदी, बोलने तक की मनाही
2002 में रिहा कुछ कैदियों ने बताया था कि हमारे बाल, दाढ़ी काट कर फ्लाइट में आंखों पर पट्टी बांधकर ले जाया गया। बेड़ियां जकड़ीं और 15 दिन पूछताछ हुई। 6 गुणा 6 फीट की पिंजरेनुमा कोठरी में 12 लोग ठूंसे गए थे। सांस लेना दूभर था। न तो आपस में बात करने आजादी थी, न ही जियारत की। ये मौत से कम नहीं था।

प्रातिक्रिया दे