Breaking News

ब्रिटेन ने जॉनसन की सिंगल डोज वैक्सीन को दी मंजूरी, फाइजर-एस्ट्राजेनेका-माडर्ना के टीकों को मिली हरी झंडी

लंदन, एजेंसियां। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए ब्रिटेन ने जानसन एंड जानसन की सिंगल यानी एक डोज वाली वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। इससे पहले ब्रिटेन फाइजर, एस्ट्राजेनेका और माडर्ना की वैक्सीन को मंजूरी दे चुका है। ब्रिटेन की दवा और स्वास्थ्य उत्पाद नियामक एजेंसी ने कहा कि जानसन एंड जानसन की इस सिंगल डोज वैक्सीन को सुरक्षा, गुणवत्ता और प्रभाव के मानकों के मुताबिक पाया गया है।

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकाक ने कहा कि सिंगल डोज की वैक्सीन होने के नाते जानसन एंड जानसन की वैक्सीन आने वाले दिनों में अहम भूमिका निभाएगी। लोगों को टीका लगवाने के लिए और प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस साल के अंत तक एक बूस्टर कार्यक्रम शुरू करने की संभावनाओं को भी तलाश रहे हैं। जानसन एंड जानसन की इस वैक्सीन को अमेरिका और यूरोपीय संघ में पहले से ही मंजूरी मिल चुकी है। यह वैक्सीन भी वायरल वेक्टर तकनीक पर आधारित है। एस्ट्राजेनेका की तरह ही इसके लेने के बाद खून का थक्का जमने के कुछ मामले सामने आए हैं, जिसकी जांच की जा रही है।

इस बीच दुनिया में कोरोना महामारी का कहर थमता नहीं दिख रहा है। दैनिक मामलों और मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। दैनिक मामलों और मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। विश्व भर में बीते 24 घंटे के दौरान 12 हजार से अधिक मरीजों की मौत हो गई। इस दौरान साढ़े पांच लाख से ज्यादा नए संक्रमित पाए गए। जॉन्स हॉपकिन्स के डाटा के अनुसार, कोरोना पीडि़तों का वैश्विक आंकड़ा 16 करोड़ 81 लाख 80 हजार से अधिक हो गया। जबकि मरने वालों की संख्या 34 लाख 94 हजार से ज्यादा हो गई है।

उधर, अमेरिका में कोरोना के खिलाफ एक और नई दवा को मंजूरी मिल गई है। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने 12 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों में हल्के से मध्यम COVID-19 के इलाज के लिए वीर बायोटेक्नोलॉजी और ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन द्वारा विकसित एंटीबॉडी दवा के आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। स्वास्थ्य नियामक ने बुधवार को कहा कि एंटीबॉडी दवा, सोट्रोविमैब उन कोरोना मरीजों के लिए अधिकृत नहीं है जो कोरोना संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती हैं या उन्हें ऑक्सीजन थेरेपी की आवश्यकता है।