Breaking News

America की चेतावनी के बाद भी बाज नहीं आ रहा Russia, Ukraine Border पर चहलकदमी करते नजर आए सैनिक

मॉस्को: रूस और यूक्रेन (Russia and Ukraine) में तनाव बढ़ता जा रहा है. विवादित सीमा के नजदीक गश्त करते रूसी सैनिकों की सामने आई तस्वीरें बड़े खतरे का संकेत दे रही हैं. इस बीच, यूक्रेन ने दावा किया है कि रूस समर्थित अलगाववादियों ने उसके एक सैनिक को मार गिराया है और दूसरा गंभीर रूप से घायल है. यूक्रेन का यह भी कहना है कि देश के पूर्वी क्षेत्र में अब तक उसके करीब 27 सैनिक मारे जा चुके हैं. खासकर, पिछले हफ्ते रूस द्वारा सीमा पर किए गए सैनिकों के जमावड़े के बाद से इस तरह के हमलों में तेजी आई है.   

ढाई किमी लंबे Camp बनाए

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION में छपी खबर के अनुसार, ब्रिटेन के मीडिया हाउस ‘SKY न्यूज’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि रूस ने सीमा के नजदीक वोरोनेजेह क्षेत्र (Voronezh Area) में सैनिकों के लिए एक शिविर बनाया गया है. यहां बड़ी संख्या में सैनिक पहुंच रहे हैं, यहां से उन्हें दूसरे क्षेत्रों में बने फील्ड कैंप में भेजा जा रहा है. ये कैंप दो से ढाई किलोमीटर तक फैले हुए हैं. रिपोर्ट के अनुसार, जिस तरह से रूस सीमाई इलाकों में सैनिकों की तैनाती कर रहा है, उससे युद्ध की आशंका पैदा हो गई है.

ये भी पढ़ें -‘Ever Given’ को छोड़ने के लिए Egypt ने मांगा मुआवजा, एक हफ्ते तक Suez Canal में फंसा रहा था विशालकाय जहाज

Blinken ने दिया था ये बयान

यूक्रेन और रूस में बढ़ती टेंशन से पूरी दुनिया चिंतित है. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन (Antony Blinken) ने रविवार को रूस को चेतावनी भी दी थी. उन्होंने कहा था कि यदि रूस आक्रमक नीति से बाज नहीं आता, तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. उन्होंने कहा था, ‘राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) इस मामले में बेहद स्पष्ट हैं. अगर रूस बेवजह यूक्रेन को परेशान करता है, आक्रामक कार्यशैली अपनाता है, तो उसे इसकी कीमत चुकानी होगी’. बता दें कि सीमा पर रूसी सेना के जमावड़े के बाद से रूस समर्थित अलगाववादियों और यूक्रेन की सेना में लड़ाई तेज हो गई है. माना जा रहा है कि रूस जंग की तैयारी कर रहा है और यह उसी रणनीति का हिस्सा है.

Ukraine का आरोप, Russia का इनकार

यूक्रेन का कहना है कि रूस जानबूझकर सीमा पर हिंसा भड़का रहा है, हालांकि रूस ने इससे इनकार किया है. रूस का यह भी कहना है कि उसकी सेना के मूवमेंट से किसी को घबराने की जरूरत नहीं है. वो कोई युद्ध की तैयारी नहीं कर रहा है. गौरतलब है कि रूस ने हाल ही में विवादित सीमा पर अपने 4,000 सैनिकों को भेजा है. रूसी सेना के इस बड़े मूवमेंट से जहां यूरोप हाई अलर्ट पर है, वहीं विश्व युद्ध का खतरा भी मंडराने लगा है. स्वतंत्र रूसी सैन्य विश्लेषक पावेल फेलगेनहर (Pavel Felgenhauer) का भी कहना है कि जिस तरह के हालात हैं उसे देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि अगले कुछ हफ्तों में यूरोपीय या विश्व युद्ध जैसा बड़ा खतरा सामने आने वाला है.

World War की आशंका 

रूस और यूक्रेन के बीच यदि युद्ध होता है, तो उसके विश्व युद्ध में बदलने के कई कारण हैं. सबसे पहला तो यही कि रूस और अमेरिका (America) धुर विरोधी हैं और यूक्रेन अमेरिका का करीबी. यदि रूस यूक्रेन को नुकसान पहुंचाता है, तो अमेरिका उसका साथ देगा और इस तरह अन्य देश भी उनसे जुड़ते जाएंगे. हाल ही में अमेरिका से सैन्य हथियारों से लदा एक कार्गो शिप यूक्रेन पहुंचा था. जिस पर रूस ने कड़ी आपत्ति जताई थी. बता दें कि रूस पहले से ही यूक्रेन और अमेरिका में बढ़ती हुई नजदीकी से चिढ़ा हुआ है.