Breaking News

पुराने रंग में लौटे Bolsonaro ने समर्थकों के बीच मनाया Birthday, कोरोना की रोकथाम के उपायों पर जताई आपत्ति

ब्रासीलिया: ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोलोसोनारो (Jair Bolsonaro) फिर से अपने पुराने रंग में लौट आए हैं. राष्ट्रपति ने कोरोना (Coronavirus) की बढ़ती रफ्तार को रोकने के लिए उठाए गए कड़े कदमों का विरोध शुरू कर दिया है. अपने जन्मदिन (Birthday) के मौके पर समर्थकों की भीड़ को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कड़े उपायों के खिलाफ उनकी जंग जारी रहेगी. ब्राजील में फिर से संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. इसके बावजूद राष्ट्रपति बोलोसोनारो ने अपने जन्मदिन के मौके पर भव्य आयोजन किया. बड़ी संख्या में उनके समर्थक राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास पर इकठ्ठा हुए.

न Mask, न Social Distancing 

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION के मुताबिक, जायर बोलोनारसो ने हाल ही में अपना 66वां जन्मदिन मनाया. इस दौरान बड़ी संख्या में लोग राष्ट्रपति को बधाई देने के लिए Alvorada Palace पहुंचे. अधिकांश लोगों ने न तो मास्क पहना था और न ही यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया. अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए बोलोसोनारो ने कड़े उपायों की आलोचना की. उन्होंने कहा कि कोरोना के नाम पर लोगों की स्वतंत्रता छीनने का प्रयास किया जा रहा है. राष्ट्रपति ने आगे कहा, ‘मैं लोगों की उस स्वतंत्रता के लिए लड़ता रहूंगा, जिसका जिक्र संविधान में है’.

ये भी पढ़ें -आतंकवाद से मुकाबले के लिए एक साथ आएंगे, India, Pak और China, Joint Anti-Terrorism Exercise में लेंगे हिस्सा

Stay-at-Home ऑर्डर का विरोध

Alvorada Palace में जमा हुए समर्थकों ने ‘हैपी बर्थडे’ गाकर राष्ट्रपति को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं. इसके बाद जायर बोलोसोनारो ने अपनी पत्नी की मौजूदगी में केक काटा. इसके बाद उन्होंने महापौर और राज्यपालों द्वारा जारी किये गए स्टे-एट-होम ऑर्डर पर आपत्ति जताई. उन्होंने कहा कि कड़े उपाए लागू करने वाले इस बात से चिंतित हैं कि स्वास्थ्य प्रणालियां ध्वस्त हो रही हैं. बता दें कि संक्रमण के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए कई राज्यों ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है.

Lockdown के रहे हैं खिलाफ 

राष्ट्रपति बोलोसोनारो शुरुआत से ही कोरोना को कमतर आंकते आए हैं. कड़े उपायों से दूर रहने की उनकी आदत की वजह से ही देश में कोरोना का प्रकोप काफी ज्यादा हो गया था. उन्होंने लॉकडाउन का विरोध करते हुए कहा था कि इससे होने वाला आर्थिक नुकसान वायरस से भी बदतर है. हालांकि, ये बात अलग है कि इसके लिए उनकी दुनियाभर में जमकर आलोचना हुई और वह खुद भी कोरोना की चपेट में आए. लेकिन अब फिर से वह अपने पुराने रंग में लौट आए हैं. गौरतलब है कि शुक्रवार को ब्राजील में 90,570 नए मामले दर्ज किए गए थे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *