Breaking News

वैक्सीनेशन व सावधानी का असर:ब्रिटेन में 12 गुना घटे केस, अमेरिका में 5 गुना, साल के शुरू में अमेरिका में रोजाना नए मरीज 2.45 लाख, ब्रिटेन में 59 हजार

‘सावधानी हटी, दुर्घटना घटी’ ये लिखा अक्सर आप हर जगह पढ़ते होंगे। अब कोरोना संक्रमण ग्राफ को देखते हुए ये स्लोगन ‘सावधानी हटी, वैक्सीनेशन में कमी और महामारी बढ़ी’ में बदल गया है। सबसे ज्यादा संक्रमित अमेरिका, ब्रिटेन और इजरायल ने सावधानी और तेज वैक्सीनेशन से संक्रमण को तेजी से नियंत्रित किया है।

दूसरी तरफ, फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्पेन जैसे यूरोपियन देशों ने धीमे वैक्सीनेशन और जल्दी छूट देकर कोरोना की तीसरी लहर रोकने का मौका खो दिया है। अब ज्यादातर यूरोपीय देशों को लॉकडाउन लगाना पड़ रहा है। जनवरी की शुरुआत में साप्ताहिक औसत के आधार पर रोजाना अमेरिका में 2.45 लाख और ब्रिटेन में 58 हजार केस आ रहे थे।

अब दो महीने बाद रोजाना नए मरीजों की संख्या ब्रिटेन ने 12 गुना और अमेरिका ने 5 गुना घटा लिए है। ब्रिटेन ने 13 दिसंबर और अमेरिका ने 20 दिसंबर को वैक्सीनेशन शुरू किया था। अब यहां नए मामले तेजी से कम हुए हैं।

इजरायल अपनी 57 फीसदी आबादी को वैक्सीन लगा चुका

दुनिया में वैक्सीनेशन के मामले में इजरायल सबसे आगे है। वह अपनी 57 फीसदी आबादी को टीके का एक डोज या दोनों लगा चुका है। राजधानी तेल अवीव में एक साल बाद नाइट क्लब भी खोल दिए हैं। इजरायल फाइजर और मॉडर्ना वैक्सीन लगा रहा है।

‘वैक्सीन में संक्रमण को रोकने और मौतों को कम करने की जबरदस्त क्षमता है: डब्ल्यूएचओ’

प्रातिक्रिया दे