Breaking News

ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने कहा कोरोना वायरस से मौत के लिए अन्य रोग भी हैं जिम्मेदार

कैनबरा । कोरोना वायरस (कोविड-19) पर जारी शोध-अनुसंधान के बीच एक और अहम जानकारी सामने आई है। एक नए अध्ययन में शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कोविड-19 से मौत के लिए चार अन्य सह-रोग (कॉमोर्बिडिटीज) भी जिम्मेदार होते हैं। इन रोगों में कैंसर, क्रॉनिक किडनी रोग, डायबिटीज (मधुमेह) और हाइपरटेंशन यानी उच्च रक्तचाप शामिल हैं।

कैंसर, क्रॉनिक किडनी रोग, डायबिटीज और हाइपरटेंशन की समस्या वाले रहें सतर्क

ऑस्ट्रेलिया की ग्रिफिथ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने चेताते हुए कहा कि जिन लोगों को ये बीमारियां हैं यदि वे कोरोना वायरस की चपेट में आ जाएं तो अतिरिक्त सतर्कता बरतें।

 

शोधकर्ताओं ने कहा- कोरोना से मौत के केस में उच्च रक्तचाप, मोटापा और डायबिटीज का भी रोल है

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, 14 देशों के 3,75,859 प्रतिभागियों के वैश्विक डाटा का विश्लेषण करने के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि सांख्यिकीय तौर पर क्रॉनिक किडनी डिजीज (किडनी की पुरानी बीमारी, इसमें दोनों किडनियां खराब हो जाती हैं।) इसमें सबसे ऊपर है। उन्होंने यह भी पाया कि कोविड-19 रोगियों की मौत के मामले में उच्च रक्तचाप, मोटापा और डायबिटीज का भी अहम रोल हैं। हालांकि, डायबिटीज और उच्च रक्तचाप की तुलना में मोटापा मृत्युदर के जोखिम को नहीं बढ़ाता है।

कोविड-19 के गंभीर नतीजों के लिए अन्य बीमारियां भी जिम्मेदार

इस अध्ययन प्रमुख लेखकों में से एक एडम टेलर ने कहा, ‘कोविड-19 के गंभीर नतीजों के लिए अन्य बीमारियां को जिम्मेदार बताया जाता रहा है, लेकिन कौन-सी बीमारी कितना असर डालती है, यह बहस का विषय है। हमने अपने वैश्विक अध्ययन में सभी कॉमोर्बिडिटीज को कवर किया है, जो कोविड-19 रोगी को मौत की ओर ले जाती हैं। इस अध्ययन से हम उन विशिष्ठ कॉमोर्बिडिटीज का पता लगा पाए जो कोविड-19 के लिए उच्च जोखिम का कारण हैं।

 

कोविड-19 से उच्च रक्तचाप और डायबिटीज के रोगियों को ज्यादा खतरा हो सकता है

वहीं, इस अध्ययन के प्रमुख लेखक प्रो. सुरेश महलिंगम ने कहा कि कोविड-19 थक्कों से जुड़ा हुआ है, इसलिए उच्च रक्तचाप और डायबिटीज के रोगियों को इससे ज्यादा खतरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि क्रॉनिक किडनी रोग वाले संक्रमितों में भी कोरोना से मौत का खतरा ज्यादा रहता है। उन्होंने कहा कि नया अध्ययन लोगों को चेताता है कि वे अतिरिक्त सतर्कता बरतें। कोरोना रोगियों पर कॉमोर्बिडिटीज के अन्य खतरों का पता लगाने के लिए अभी और अध्ययन किए जाने की जरूरत है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *