Breaking News

आखिर ऐसा क्या हुआ, जब दुनिया के सामने रोने लगे तानाशाह किम जोंग उन, लोगों से मांगी माफी

किम जोंग उन (Kim Jong Un) हमेशा से ही अपनी सख्ती की वजह से खबरों में रहते हैं लेकिन उस समय सब हैरान रह गए जब वो दुनिया के सामने रोने लगे.

Kim Jong Un Crying During Speech: उत्तर कोरिया (North Korea) के नेता किम जोंग उन (Kim Jong Un) हमेशा से ही अन्य देशों को धमकी देने और परमाणु कार्यक्रम को लेकर चर्चा में बने रहते हैं. वह अपने तानाशाही रवैया के कारण दुनियाभर में जाने जाते हैं. लेकिन एक दिन ऐसा भी था, जब वह भावुक हो गए (Kim Jong Un Crying). ये घटना उस समय की है, जब वह सैन्य परेड के दौरान भाषण दे रहे थे. ये मौका था, किम जोंग की पार्टी की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ का. यानी साल 2020 का अक्टूबर महीना. तब किम जोंग ने अपने देश के लोगों को उनके बलिदान के लिए धन्यावाद कहा था.

उत्तर कोरिया इस समय दुनियाभर में अपने परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों के कारण अलग थलग पड़ा हुआ है. वह संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका द्वारा उसपर लगाए गए प्रतिबंधों की आलोचना भी कर चुका है. ऐसे में ये देश काफी मुश्किलों का सामना कर रहा है. इस दौरान किम जोंग उन ने रोते हुए देश के सैनिकों को राष्ट्रीय आपदाओं का सामना करने और कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए धन्यवाद कहा था (What Was Kim Jong Un Crying About). उन्होंने देश के लोगों से माफी भी मांगी क्योंकि वह उनके जीवन जीने के स्तर में सुधार नहीं कर पाए.

वीडियो भी सामने आया था

इसका एक एडिट किया वीडियो भी जारी हुआ था, जिसमें किम रोते हुए दिख रहे थे. देश की परेशान जनता से माफी मांगते हुए किम जोंग ने उत्तर कोरिया की खराब आर्थिक स्थिति के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों, कोरोना वायरस महामारी, तूफान और बाढ़ को जिम्मेदार ठहराया था. उन्होंने आंसू पोंछते हुए रुंधी हुई आवाज में कहा था, ‘हमारे लोगों ने मुझपर भरोसा दिखाया है, जितना ऊंचा आसमान है उतना ऊंचा, जितना गहरा समुद्र है उतरा गहरा, लेकिन मैं कुछ भी संतोषजनक कर पाने में विफल रहा हूं. मैं उसके लिए माफी चाहता हूं (Kim Jong Un Crying Apology).’ उन्होंने कहा था कि देश कोरोना वायरस और अन्य चुनौतियों से बेहतरी से निपटा है, जो जनता की बड़ी उपलब्धि है.

लोगों का जताया था आभार

उत्तर कोरियाई नेता ने ये भी कहा था कि ‘हमारे लोग पार्टी के प्रति हमेशा से ही आभारी रहे हैं. लेकिन वो खुद आभार के योग्य हैं.’ वहीं संयुक्त राष्ट्र संघ (UN on Kim Jong Un North Korea) का कहना है कि कम जोंग के शासन में उत्तर कोरिया में लोगों की स्वतंत्रता को कुचला जा रहा है, यहां राजनीतिक जेल शिविर तैयार किए हैं और लोगों की कड़ी निगरानी होती है. सरकारी मीडिया के अनुसार, किम ने अपने चाचा की हत्या कर दी थी. अमेरिका ने उत्तर कोरिया की सरकार पर किम जोंग के सौतेले भाई किम जोंग नाम की साल 2017 में वीएक्स नर्व एजेंट से हत्या करने का आरोप लगाया था. जिसे प्योंगयांग ने खारिज कर दिया था.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *