Breaking News

शपथ ग्रहण के बाद नए राष्ट्रपति जो बाइडन ने डोनाल्ड ट्रंप के पत्र को बताया उदारता भरा

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस छोड़ने से पहले डोनाल्ड ट्रंप अपने उत्तराधिकारी जो बाइडन के नाम एक पत्र लिख गए थे। शपथ ग्रहण के बाद नए राष्ट्रपति बाइडन ने बुधवार को यह पत्र पढ़ा और बताया कि यह उदारता से भरा है। अमेरिकी परंपरा के अनुसार, निवर्तमान राष्ट्रपति अपने उत्तराधिकारी के लिए एक पत्र व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में छोड़कर जाते हैं। ट्रंप भी इसी परंपरा का अनुसरण करते हुए बाइडन के नाम पत्र छोड़ गए थे। हालांकि ट्रंप ने कई परंपराओं की अनदेखी भी की थी।

 

बाइडन ने ट्रंप के पत्र को बताया उदारता भरा

वह बाइडन के शपथ ग्रहण से पहले ही व्हाइट हाउस से चले गए थे। उनकी जगह पूर्व उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने परंपराएं निभाई थीं। बाइडन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘राष्ट्रपति ने बेहद उदारता भरा पत्र लिखा है, क्योंकि यह निजी है। इसके बारे में मैं तब तक नहीं बताऊंगा, जब तक मैं उनसे (ट्रंप) बात नहीं कर लेता। लेकिन यह वास्तव में उदारता भरा है।’ उन्होंने बताया कि वह ट्रंप से बात करने की योजना बना रहे हैं। बाइडन ने ओवल ऑफिस में कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर करने से पहले यह पत्र पढ़ा था। ट्रंप के सहयोगी ने बताया कि इस चिठ्ठी में देश और नए प्रशासन की सफलता की दुआ की गई है।

साल 2017 में डोनाल्‍ड ट्रंप जब राष्ट्रपति बने थे तो अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी उनके लिए एक नोट छोड़ा था। ट्रंप इस चिठ्ठी को लेकर इस कदर उत्साहित हो गए कि उन्होंने तुरंत ओबामा से बात करने के लिए फोन लगा दिया था। हालांकि, उस वक्त ओबामा फ्लाइट में थे इसलिए वो कॉल रिसीव नहीं कर सके थे।

हैंस के नाम पर सीनेट की मुहर

अमेरिकी संसद के ऊपरी सदन सीनेट ने बाइडन के पहले नामित पर अपनी मुहर लगा दी। बाइडन ने नेशनल इंटेलिजेंस के निदेशक पद के लिए एवरिल हैंस को नामित किया था। इस नामांकन को सीनेट से 10 के मुकाबले 84 मतों से मंजूरी मिल गई। बाइडन कैबिनेट में नियुक्ति पाने वाली हैंस पहली सदस्य बन गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *