Breaking News

अमेरिका में तैनात अपने राजदूत को वापस बुलाएगा रूस, बाइडेन ने कहा था- ‘हत्यारे’ हैं पुतिन

रूस के विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry of Russia) ने कहा है कि वह अमेरिका में तैनात अपने राजदूत (Ambassador) को बातचीत के लिए वापस बुला रहा है. उसने इसके पीछे कोई विशेष कारण नहीं बताया. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) के प्रशासन के साथ बढ़ते तनाव के बीच राजदूत एनातोली एनतोनोव को मास्को बुलाने का फैसला बुधवार को लिया गया.

उल्लेखनीय है कि विपक्ष के नेता एलेक्सी नवलनी को जहर देने के मामले की पृष्ठभूमि में अमेरिका ने रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं. इससे पहले, अमेरिका के राष्ट्रीय खुफिया निदेशक के कार्यालय की एक रिपोर्ट में पता चला था कि अमेरिका में बीते नवंबर में हुए राष्ट्रपति चुनाव में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की ओर से एक अभियान के जरिए डोनाल्ड ट्रंप को मदद के प्रयास हुए थे.

बाइडेन ने पुतिन को बताया ‘हत्यारा’

बुधवार को प्रसारित एक टेलीविजन इंटरव्यू में बाइडेन से पूछा गया था कि क्या उन्हें ऐसा लगता है कि पुतिन एक हत्यारे हैं? इस पर उनका जवाब था, ‘हां’. रिपोर्ट से जुड़े एक सवाल के जवाब में बाइडेन ने कहा कि पुतिन को कीमत चुकानी होगी. रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया जाखारोवा ने एनतोनोव को वापस बुलाने का कोई विशेष कारण तो नहीं बताया लेकिन यह जरूर कहा कि संबंध ‘कठिन दौर से गुजर रहे हैं जिन्हें हाल के सालों में वॉशिंगटन रसातल में ले गया है.’

आवाज उठाता रहेगा व्हाइट हाउस

उन्होंने कहा कि हमारी दिलचस्पी इस बात में है कि संबंध इस हद तक न बिगड़ जाएं, जहां से लौटना मुमकिन न हों, बशर्ते कि अमेरिका इससे जुड़े जोखिमों से अवगत हो. व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन साकी ने कहा कि स्पष्ट बात तो यह है कि हम उन मामलों पर बोलेंगे जो हमारे लिए चिंता का विषय हैं. निश्चित ही रूस ने जो कदम उठाए हैं, उनके लिए उसे जवाबदेह ठहराया जाएगा.

कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि 2016 में ट्रंप के राष्ट्रपति बनने में रूस का बड़ा हाथ था. वहीं, एक अन्य खुफिया रिपोर्ट में कहा गया कि चीन बाइडेन को राष्ट्रपति बनता हुआ देखना चाहता था. हाल ही में आई एक रिपोर्ट में भी कहा गया कि रूस ट्रंप को एक बार फिर राष्ट्रपति बनाने के लिए कोशिश कर रहा था.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *