Breaking News

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, देश में जारी है वायरस का कहर

पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कोरोनावायरस की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) लगवाई है. हाल के दिनों में पाकिस्तान में कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया है कि देश में लगातार कोविड-19 मामलों के बढ़ने के चलते पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 7.8 फीसदी हो गया है. नेशनल कमांड एंड ऑपरेटर सेंटर (NCOC) ने बताया है कि 24 घंटे में पाकिस्तान में कोरोना के चलते 61 लोगों ने जान गंवाई है.

NCOC ने बताया है कि पाकिस्तान में अब तक कोरोना के चलते 13,717 लोगों की मौत हुई है. वहीं, संक्रमित लोगों की संख्या 24,592 हो गई है. इसमें से 3,495 लोग पिछले 24 घंटे में वायरस की चपेट में आए हैं. वर्तमान में पाकिस्तान में कोरोनावायरस की तीसरी लहर जारी है. इस कारण अस्पतालों पर बोझ बढ़ता जा रहा है. संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सरकार लगातार लोगों से गुजारिश कर रही है कि वे बचाव के नियम का पालन करें.

लाहौर के तीन बड़े अस्पतालों की खत्म हुई वैक्सीन

पाकिस्तान के अस्पतालों पर कोरोनावायरस मरीजों का कितना लोड है. इस बात का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि लाहौर के तीन बड़े अस्पतालों में वैक्सीन खत्म हो गई है. बड़ी संख्या में लोग वैक्सीनेशन के लिए पहुंच रहे हैं. ऐसे में मेयो हॉस्पिटल, सर्विसेज हॉस्पिटल और जिन्नाह हॉस्पिटल में वैक्सीन की स्टोरेज खत्म हो गई है. हालात इस कदर खराब हो गए हैं कि स्वास्थ्यकर्मियों को लगाने के लिए भी वैक्सीन मौजूद नहीं है. पाकिस्तान ने वैक्सीन के लिए चीन पर निर्भर है. अस्पताल प्रशासन ने कहा है कि जल्द ही देश को सिनोफार्म वैक्सीन (Sinopharm Vaccine) की खेप मिलने वाली है.

कोवैक्स के जरिए भी मिलेगी पाक को वैक्सीन

चीन के अलावा पाकिस्तान को कोवैक्स (Covax) से भी वैक्सीन मिलने वाली है. कोवैक्स विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की वो पहल है, जिसके जरिए गरीब और कम आय वाले मुल्कों को वैक्सीन मुहैया कराई जा रही है. पाकिस्तान को इसके तहत 17,160,000 डोज मिलने वाली है. फिलहाल पाकिस्तान में स्वास्थ्यकर्मियों और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है.

फिर से लागू हुईं पाबंदियां

पाकिस्तान में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कई शहरों में पाबंदियों को बढ़ा दिया गया है. करीब सात शहरों में फिर से लॉकडाउन लागू किया गया है. जिन इलाकों में वायरस का कहर सबसे ज्यादा है, वहां मौजूद शिक्षण संस्थानों को दो सप्ताह के लिए बंद कर दिया गया है. रमजान का महीना आने वाला है, ऐसे में पाकिस्तान के बाजारों में लोगों की भीड़ भी बढ़ने वाली है. अब इस समय ये देखना होगा कि क्या इमरान सरकार बाजारों को बंद करने का निर्णय लेती है या नहीं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *