Breaking News

कोविड के नए मामलों में हर हफ्ते 10 फीसदी की दर से हुई वृद्धि, अमेरिका-यूरोप में मिले सबसे ज्यादा केस: WHO

WHO Reported Ten Percent Rise in Coronavirus Cases: दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में एक बार फिर बढ़ोतरी देखी जा रही है. कई देशों में संक्रमण की तीसरी लहर चल रही है, जिसके चलते एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जा रहा है. अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने बताया है कि कोरोना वायरस के मामलों में कितनी वृद्धि हो रही है. संगठन के अनुसार, बीते सप्ताह दुनिया में कोविड-19 के मामलों में 10 फीसदी की दर से वृद्धि हुई है और इसमें सबसे अधिक योगदान अमेरिका और यूरोप (US Europe Coronavirus) का रहा है.

डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी (Coronavirus Pandemic) पर बुधवार को प्रकाशित साप्ताहिक आंकड़ों में बताया कि जनवरी के शुरुआत में महामारी अपने चरम पर थी और करीब 50 लाख मामले प्रति सप्ताह आ रहे थे, लेकिन फरवरी के मध्य में इसमें गिरावट आई और यह 25 लाख के करीब पहुंच गई. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की स्वास्थ्य एजेंसी ने रेखांकित किया कि पिछला सप्ताह लगातार तीसरा सप्ताह रहा जब संक्रमण दर में आई गिरावट के बाद नए मामलों में वृद्धि देखने को मिली.

अमेरिका-यूरोप में मिले सबसे ज्यादा केस

डब्ल्यूएचओ ने बताया कि पिछले सप्ताह आए नए मामलों और मौतों में 80 फीसदी से अधिक मामले और मौतें अमेरिका और यूरोप में हुई हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि यूरोप में नए मामलों में छह फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि मौतों की संख्या में लगातार कमी आई है. डब्ल्यूएचओ (WHO on Coronavirus Cases) ने बताया कि सबसे अधिक मामले फ्रांस, इटली और पोलैंड में आए हैं. यूरोप के देशों में मामलों में वृद्धि हुई है, इस बीच एक दर्जन से अधिक देशों ने अस्थायी रूप से एस्ट्राजेनेका की कोविड-19 वैक्सीन लगाने पर रोक लगा दी है.

एस्ट्राजेनेका वैक्सीन पर WHO ने क्या कहा?

इन देशों ने यह कदम इस वैक्सीन से खून के थक्के जमने संबंधी खबर के बाद उठाया है. हालांकि इसपर विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक शीर्ष विशेषज्ञ ने कहा है कि अगर स्वास्थ्य प्राधिकार कोविड-19 की एस्ट्राजेनेका वैक्सीन (Covid 19 AstraZeneca Vaccine) और रक्त के थक्के जमने के बीच कोई संबंध होने की पुष्टि कर देते हैं, तो भी लोगों को इस बारे में आश्वस्त रहना चाहिए कि ऐसे मामले बहुत ही दुर्लभ हैं. डब्ल्यूएचओ के टीकाकरण और वैक्सीन विभाग की प्रमुख डॉ केट ओ ब्रायन ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी और यूरोपियन मेडिसींस एजेंसी (यूरोपीय औषधि एजेंसी) रक्त के थक्के जमने और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की खुराक के बीच संबंध होने की संभावना की जांच करने की कोशिश कर रही है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *