Breaking News

डब्ल्यूएचओ का अलर्ट, अमेरिका और यूरोप में फिर पैर जमा रहा कोरोना, 10 फीसद बढ़े संक्रमण के मामले

जेनेवा, एजेंसियां। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक पिछले सप्ताह दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामलों में 10 फीसद की वृद्धि हुई। अमेरिका और यूरोप में संक्रमण बढ़ने से यह स्थिति पैदा हुई है। डब्ल्यूएचओ ने बुधवार को प्रकाशित साप्ताहिक अपडेट में कहा, ‘दुनियाभर में नए कोरोना मामलों की संख्या जनवरी की शुरुआत में प्रति सप्ताह लगभग पचास लाख थी, लेकिन फरवरी के मध्य में इसकी रफ्तार घटकर 25 लाख हो गई थी।’

दुनियाभर में बढ़े कोरोना के मामले

विश्व स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि यह लगातार तीसरा सप्ताह है जब दुनियाभर में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है। मरीजों की तादाद बढ़ने में अस्सी फीसद भूमिका अमेरिका और यूरोप में मिल नए मरीजों की है।

मामलों में छह फीसद का उछाल

यूरोप में पॉजिटिव मामलों की संख्या में छह फीसद की वृद्धि हुई जबकि मृत्युदर लगातार घट रही है। सबसे अधिक नए मामले फ्रांस, इटली और पोलैंड में दर्ज किए गए हैं। जिन एक दर्जन देशों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं, उनमें से अधिकांश यूरोप के हैं। बता दें कि एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लगने के बाद रक्त का थक्का जमने की समस्या के चलते यहां के अधिकांश देशों ने इसके उपयोग पर रोक लगा दी है।

बहुत कम होते हैं रक्त के थक्के जमने जैसे मामले

डब्ल्यूएचओ के एक शीर्ष विशेषज्ञ का कहना है टीका लगने के बाद रक्त के थक्के जमने जैसे मामले बहुत कम होते हैं। संगठन के टीकाकरण और टीका विभाग के प्रमुख डॉ. केट ओ ब्रायन ने कहा कि डब्ल्यूएचओ और यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी रक्त के थक्कों और एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के बीच संबंधों की जां

यूरोपीय यूनियन ने ब्रिटेन को धमकी दी

कोरोना की तीसरी लहर से घबराए यूरोपीय यूनियन ने कहा कि वह ब्रिटेन को निर्यात किए जाने वाले कोरोना वैक्सीन को रोक सकता है। बता दें कि अब तक यूरोप में साढ़े पांच लाख से ज्यादा लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है जबकि यूरोपीय यूनियन के 10 फीसद लोगों का अभी तक टीकाकरण किया जा चुका है।

जॉनसन लेंगे एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बुधवार को संकेत दिया कि एस्ट्राजेनेका वैक्सीन लेने के दौरान वह सभी तरह के सुरक्षा उपायों का इस्तेमाल करेंगे। उन्होंने इस बात की भी पुष्टि की कि टीकाकरण अभियान का विस्तार किए जाने के बाद अब वह भी उन लोगों में शामिल हो गए हैं जिन्हें टीका लगाया जाएगा। जॉनसन ने कहा कि वह एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लेंगे। इससे पहले उन्होंने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह ना केवल सुरक्षित है बल्कि अच्छी तरह काम भी कर रही है। 

प्रातिक्रिया दे