Breaking News

पाकिस्तान में बढ़ा Vaccine संकट, लाहौर के बड़े अस्पतालों में खत्म हुई कोरोना वैक्सीन

पाकिस्तान (Pakistan) के लाहौर में स्थित तीन बड़े अस्पतालों में कोरोना वायरस की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) खत्म हो गई है. ऐसा इसलिए क्योंकि यहां बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन की डोज लेने के लिए पहुंच रहे थे. मेयो हॉस्पिटल, सर्विसेज हॉस्पिटल और जिन्नाह हॉस्पिटल वो हेल्थकेयर सेंटर हैं, जहां वैक्सीन खत्म हो गई हैं. अस्पताल प्रशासन का कहना है कि वैक्सीन को लेकर परेशानी इतनी बढ़ गई है कि वह स्वास्थ्यकर्मियों तक को वैक्सीन देने में सक्षम नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि मंगलवार को ही वैक्सीन खत्म हो गईं. बड़ी संख्या में लोगों को वैक्सीन लगाई गई है. जिसके कारण ये खत्म हो गईं. अस्पताल प्रशासन ने उम्मीद जताई है कि इन्हें जल्द ही और वैक्सीन मिल जाएंगी. अस्पताल का कहना है कि पाकिस्तान को सिनोफार्म वैक्सीन (Sinopharm Vaccine) की तीसरी खेप मिलने वाली है, जिससे अस्पतालों तक वैक्सीन जल्द पहुंचाई जा सकती है. पाकिस्तान में 2 फरवरी को टीकाकरण अभियान (Vaccination Drive in Pakistan) शुरू हुआ था. यहां फिलहाल देश के स्वास्थ्यकर्मियों और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है.

चीन से वैक्सीन मिलने की आस

पाकिस्तान सिनोफार्म वैक्सीन का इस्तेमाल कर रहा है, जिसे चीन की सरकारी कंपनी चाइना नेशनल फार्मास्यूटिकल ग्रुप (China National Pharmaceutical Group) ने विकसित किया है. इस वैक्सीन को कोरोना वायरस के खिलाफ 79 फीसदी तक प्रभावी बताया गया है. बीते हफ्ते ऐसी खबर आई थी कि पाकिस्तान ने सिंगल डोज वैक्सीन का ऑर्डर दिया था, जिसके बाद उसे इस हफ्ते चीनी कंपनी कानसिनो बायो से वैक्सीन की पहली खेप मिल सकती है.

कोवैक्स से भी मिलेगी वैक्सीन

चीन से वैक्सीन मिलने के अलावा पाकिस्तान को कोवैक्स से भी वैक्सीन मिलेगी. कोवैक्स विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) की वो पहल है, जिसके माध्यम से दुनिया के गरीब और मध्यम आय वाले देशों को वैक्सीन मुहैया कराई जा रही है. पाकिस्तान को भी इस पहल (COVAX) के तहत कोविड वैक्सीन की 17,160,000 डोज मिलेंगी. पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर बढ़ रहे हैं. ये देश संक्रमण की तीसरी लहर का सामना कर रहा है. जिसके चलते सात शहरों में हाल ही में लॉकडाउन लगाया गया है. इसके अलावा बुरी तरह से प्रभावित इलाकों में शिक्षण संस्थानों को दो सप्ताह के लिए बंद कर दिया गया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *