Breaking News

PAK में राजनीतिक उथल-पुथल, जरदारी ने नवाज शरीफ को कहा- जंग के लिए तैयार हैं तो देश वापस आइए

पाकिस्तान (Pakistan) में पिछले कुछ दिनों में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है. इमरान खान (Imran Khan) को पाकिस्तान की सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए तैयार किए गए विपक्षी दलों का गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) बिखरता हुआ नजर आ रहा है. दरअसल, आसिफ अली जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) और नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के बीच विधानसभाओं में इस्तीफा देने पर सहमति नहीं बन सकी है. वहीं, जरदारी ने नवाज शरीफ को कहा है कि अगर वह जंग के लिए तैयार हैं तो पाकिस्तान वापस लौट आएं.

आसिफ अली जरदारी (Asif Ali Zardari) और नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की पार्टी के बीच सहमित नहीं बनने के चलते ही PDM के लॉन्ग मार्च को स्थगित कर दिया गया है. सूत्रों ने बताया है कि जरदारी और नवाज शरीफ के बीच काफी लंबी बातचीत हुई. इस दौरान जरदारी ने शरीफ से आग्रह किया कि वह अगर सही में ‘जंग के लिए तैयार’ हैं तो देश वापस लौट आएं. सूत्रों के मुताबिक, जरदारी ने नवाज से कहा, यदि आप जंग लड़ने के लिए तैयार हैं, तो आपको अपने देश लौटना होगा. उन्होंने कहा, जो लोग युद्ध के लिए तैयार हैं, उन्हें जेल जाने के लिए भी तैयार होना होगा.

जरदारी की पार्टी इस्तीफे के समर्थन में नहीं

दरअसल, PDM के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान ने बताया कि विधानसभाओं से इस्तीफा देने के मुद्दे पर गठबंधन में मतभेद चल रहे हैं. इस कारण इमरान के खिलाफ होने वाले लॉन्ग मार्च को स्थगित कर दिया गया है. नवाज की पार्टी और फजलुर रहमान की पार्टी समेत PDM में शामिल अन्य पार्टियों ने दिसंबर से ही इस्तीफा देने की मांग रखी थी. लेकिन जरदारी की पार्टी PPP ने कहा है कि विपक्ष को सदन में परिवर्तन के लिए देखना चाहिए और इस्तीफे को आखिरी विकल्प के तौर पर रखना चाहिए.

इस्तीफे से मिलेगी इमरान को मजबूती

जरदारी ने नवाज को कहा कि विधानसभाओं से इस्तीफा देने पर इमरान खान को मजबूती मिलेगी. उन्होंने कहा, हम लोगों के बीच किसी भी मुद्दे पर मतभेद होने से इसका फायदा लोकतंत्र के दुश्मनों को मिलेगा. हमें पहाड़ों से नहीं लड़ना है, बल्कि हमें संसद के भीतर ही लड़ना है. सूत्रों ने बताया कि जरदारी ने नवाज से कहा कि मियां साहब अगर आप सामूहिक रूप से इस्तीफा चाहते हैं तो हमें ही नहीं, सभी को जेल जाना पड़ेगा.

प्रातिक्रिया दे