Breaking News

Health Ministry: कोरोना वैक्सीन पर नहीं लगाया गया प्रतिबंध केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया

नई दिल्ली, पीटीआइ। कोरोना महामारी के बीच देश में दो वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है। केंद्र सरकार अब जल्द ही टीकाकरण शुरू करने वाली है। ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने पिछले दिनों सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड (covishield) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सीन (covaxin) को मंजूरी दी है। वहीं, आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि सरकार ने किसी भी कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर प्रतिबंध नहीं लगाया है।

एसआइआइ के सीईओ ने कहा था कि दूसरे देशो में नहीं निर्यात की जा सकती कोविशील्ड 

बता दें कि पिछले दिनों सीरम इंस्टीट्यट के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा था कि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन जिसे सीरम इंस्टिट्यूट ने बनाया है, उसे अगले कुछ महीने तक किसी भी दूसरे देश को निर्यात नहीं किया जा सकता है। तब पूनावाला ने कहा था कि हम इस समय केवल और केवल भारत सरकार को ही अपनी वैक्सीन बेच सकते हैं।

Centre has not banned export of any COVID-19 vaccine: Union health secretary

— Press Trust of India (@PTI_News) January 5, 2021

वहीं, मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉफ्रेंस के दौरान बताया कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन को निर्यात भी किया जाएगा। इस दौरान राजेश भूषण ने साफ कहा कि सरकार द्वारा वैक्सीन के निर्यात पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अगले दस दिनों में कोरोना का टीकाकरण शुरू किया जाएगा। इसके लिए केंद्र ने सारी तैयारियां कर ली हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here

here