Breaking News

भारत के PAK को कोरोना वैक्सीन देने पर दिग्विजय ने उठाए सवाल, नरोत्तम मिश्रा ने दिया जवाब

भोपाल: पाकिस्तान भले ही भारत के लिए बुरी नीयत रखता हो, साजिश रचना हो और आतंकवाद को बढ़ावा देता हो. इसके बावजूद  भारत कोरोना महामारी से लड़ाई में पाकिस्तान की मदद करेगा. भारतीय वैक्सीन के सहारे पाकिस्तान कोरोना से जंग लड़ेगा. इंटरनेशनल अलायंस GAVI के जरिए भारत में बनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ की 4.5 करोड़ डोज पाकिस्तान को मिलेगी. वहां के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के सचिव आमिर अशरफ ख्वाजा ने लोक लेखा समिति (पीएसी) को बताया कि भारत में निर्मित कोरोना की वैक्सीन इसी महीने पाकिस्तान को मिलेगी.

भारत की इस दयालुता पर भी मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव ​दिग्विजय सिंह ने सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने ट्वीट में लिखा, ”55 करोड़ रुपए पाकिस्तान को देने का समर्थन करने पर नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को गोली मारी. अब साहब जी 1125 करोड़ की वैक्सीन पाकिस्तान को मुफ्त में दे रहे हैं. मोदी-गोडसे भक्तों कुछ कहना चाहेंगे?” हालांकि अपने इस ट्वीट के लिए दिग्विजय सिंह को काफी ट्रोल होना पड़ रहा है. भारत ने करीब 70 देशों को कोरोना वैक्सीन की करोड़ों डोज मुफ्त भेज चुका है. यह भारत की विदेश नीति का अहम हिस्सा है.

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ​दिग्विजय सिंह को उनके ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने दिग्गी के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा, ”दया धर्म का मूल है, पाप मूल अभिमान, तुलसी दया न छोड़िए, जब तक घट में प्राण. राजा साहब, 2020 में पूरी दुनिया में #Corona महामारी छाई और भारत ने #वसुधैव_कुटुंबकम का मूलमंत्र अपनाकर पाकिस्तान सहित विश्व के 50‌ से अधिक देशों को मुफ्त #vaccine देकर मानवता का धर्म निभाया है.”

नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ”दिग्विजय सिंह के दिल में गोडसे और मुंह में गांधी रहते हैं. वह इस तरह का ट्वीट जानबूझकर करते हैं की इसकी चर्चा हो. मोदी जी ने दुनिया को वैक्सीन देकर भारत को विश्व गुरु बनने की ओर बढ़ाया है. भारत अकेले पाकिस्तान को वैक्सीन नहीं दे रहा, बल्कि 65 देशों को पहुंचाया है. आज मोदी जी भारत की वैश्विक छवि गढ़ रहे हैं इन्हें इसी बात की पीड़ा है. पूरा विश्व मोदी जी के नेतृत्व की तारीफ कर रहा, कांग्रेस के लोगों को इस बात से दिक्कत हो रही है.”

प्रातिक्रिया दे