Breaking News

Maryam Nawaz को निशाना बना सकती है Army, विपक्ष की बढ़ती ताकत से बौखला गए हैं Imran Khan

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) और सेना (Army) विपक्षी दलों के बढ़ते प्रभाव से बेचैन हैं. उन्हें समझ आ गया है कि यदि विपक्ष ऐसे ही मुखर होता रहा, तो दोनों के लिए आने वाले समय में परेशानी बढ़ जाएगी. इसलिए सरकार और सेना डराने-धमकाने की खेल में जुट गई है. सेना के निशाने पर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज (Maryam Nawaz) हैं. क्योंकि पिछले कुछ समय से वह लगातार सरकार-सेना गठजोड़ पर प्रहार करती आ रही हैं. नवाज शरीफ ने खुद यह आशंका जताई है कि उनकी बेटी की जान को खतरा हो सकता है.

Maryam ने Imran पर बोला था हमला  

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION में छपी खबर के अनुसार, लंदन में रह रहे नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) ने एक वीडियो मैसेज में कहा है कि उनकी बेटी को पाकिस्तानी सेना से जान का खतरा है. उन्होंने कहा है कि यदि मरियम नवाज को कुछ होता है, तो इसके लिए सीधे तौर पर सेना के शीर्ष जनरल जिम्मेदार होंगे. बता दें कि मरियम ने अविश्वास प्रस्ताव को लेकर इमरान खान पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने कहा था कि उनकी पार्टी के दो सांसदों को चार घंटे तक कंटेनर में बंद रखा गया था, ताकि उन पर सरकार के पक्ष में वोटिंग का दबाव बनाया जा सके.

Nawaz ने इन लोगों के लिए नाम 

अपने वीडियो में नवाज शरीफ ने पाकिस्तानी सेना और सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘आप इस हद तक गिर चुके हैं कि पहले रात के वक्त मरियम नवाज के होटल का दरवाजा तोड़ा और अब उन्हें धमकी दे रहे हैं कि अगर उन्होंने बोलना बंद नहीं किया तो उन्हें रास्ते से हटा दिया जाएगा’. उन्होंने आगे कहा कि यदि मेरी बेटी को कुछ होता है, तो इसके लिए सीधे तौर पर प्रधानमंत्री इमरान खान, सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा (Qamar Javed Bajwa), आईएसआई के चीफ जनरल फैज हमीद (Faiz Hameed) और जनरल इरफान मलिक (Irfan Malik) जिम्मेदार होंगे.

Army पर फिर लगाया धांधली का आरोप 

भ्रष्टाचार के मामले में दोषी करार दिए गए नवाज शरीफ नवंबर 2019 से लंदन में रह रहे हैं. खराब स्वास्थ्य के चलते लाहौर उच्च न्यायालय ने उन्हें विदेश में इलाज करवाने की अनुमति दी थी, तभी से वह पाकिस्तान वापस नहीं लौटे हैं. शरीफ ने फिर से पिछले चुनाव में इमरान खान और सेना पर मिलीभगत का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सेना ने इमरान को सत्ता तक पहुंचाने के लिए चुनाव में धांधली को अंजाम दिया. पूर्व प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि सैन्य अधिकारियों ने जो कुछ किया है, वो अपराध है और उन्हें इसकी कीमत चुकानी होगी.

प्रातिक्रिया दे