Breaking News

West Bengal Election 2021: बीजेपी को हराने कोलकाता पहुंचे Rakesh Tikait, आज नंदीग्राम में करेंगे महापंचायत

कोलकाता: भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ( Rakesh Tikait) अपनी पूर्व घोषणा पर अमल करते हुए कोलकाता (Kolkata) पहुंच गए हैं. वे आज दोपहर में बंगाल के किसान नेताओं से बातचीत करेंगे. इसके बाद वे शाम को नंदीग्राम में महापंचायत करेंगे.

बंगाल चुनाव में बीजेपी को हराएंगे राकेश टिकैत?

कोलकाता जाने से पहले यूपी के बलिया में किसान महापंचायत करते हुए राकेश टिकैत ( Rakesh Tikait) ने कहा कि वे बंगाल चुनावों ( West Bengal Election 2021) में बीजेपी को हराने का काम करेंगे. वे किसी राजनीतिक दल का समर्थन नहीं करेंगे लेकिन लोगों को बीजेपी को हराने का आहवान करेंगे. टिकैत ने आरोप लगाया कि देश के किसान बीजेपी की नीतियों से त्रस्त हैं और अब वे इस पार्टी को स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं.

दिल्ली में बैठे लुटेरों को भगाना है- राकेश टिकैत

राकेश टिकैत ( Rakesh Tikait) ने बिना किसी का नाम लिए कहा,’दिल्ली से लुटेरों को भगाना है. वह आखिरी बादशाह साबित होगा.’ टिकैत ने आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए किसानों को ‘एक गांव, एक ट्रैक्टर, 15 आदमी और 10 दिन’ का नारा दिया. उन्होंने कहा कि किसान अगले 10 दिनों की तैयारी कर लें. उन्हें किसी भी वक्त दिल्ली कूच करने के लिए आह्वान किया जा सकता है. उन्होंने बिहार में भी आंदोलन को धार देने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि एकजुट न होने के कारण ही किसान लुटे हैं. भारत के किसानों के आंदोलन की गूंज पूरी दुनिया में होने लगी है.

दिल्ली बॉर्डर पर 3 महीने से आंदोलन कर रहे हैं किसान

बताते चलें कि केंद्र सरकार के नई कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी यूपी के किसान पिछले 3 महीने से आंदोलन (Farmers Protest) कर रहे हैं. इन प्रदेशों के सैकडों किसान दिल्ली के सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे हैं. किसान हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस ने राकेश टिकैत समेत कई किसान नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था. जिसके बाद 28 जनवरी को राकेश टिकैत ने रोते हुए अपनी जान का खतरा बताया था. इसके बाद से वे किसान आंदोलन के नए पोस्टर बॉय बन गए हैं.

बंगाल चुनाव में बीजेपी और TMC में टक्कर

पश्चिम बंगाल के विधान सभा चुनाव ( West Bengal Election 2021) में तृणमूल कांग्रेस (TMC) और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर चल रही है. वहीं कांग्रेस और वामपंथी दलों का गठबंधन इस लड़ाई को तिकोना बनाने की कोशिश कर रहा है. मुख्यमंत्री और TMC मुखिया ममता बनर्जी प्रदेश की नंदीग्राम सीट से विधान सभा चुनाव लड़ रही हैं. बीजेपी ने उनके सामने शुवेंदु अधिकारी को उतारा है. वे पहले TMC में रह चुके हैं और ममता बनर्जी के भरोसेमंद माने जाते रहे हैं लेकिन पिछले साल उन्होंने पार्टी बदल ली और बीजेपी में आ गए. ऐसे में ये देखने वाली बात होगी कि राकेश टिकैत ( Rakesh Tikait) इन चुनावों के परिणाम पर कितना असर डाल पाएंगे.

प्रातिक्रिया दे