Breaking News

Weather Update: देश के इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, गुरुग्राम में आकाशीय बिजली गिरने से 4 लोग झुलसे, देखें वीडियो

नई दिल्ली/ गुरुग्राम, जेएनएन । दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत के कई राज्यों में मौसम ने करवट ली है। कई जगहों  पर हल्की बारिश हो रही है। वहीं गुरुग्राम के सेक्टर 82 स्थित वाटिका सिटी में आकाशीय बिजली गिरने से चार लोग गंभीर रूप से झुलस गए। दिल हिला देने वाली घटना करीब साढ़े पांच बजे हुई। चारों व्यक्ति पार्क व ग्रीन लैंड को संवारने का काम कर रहे थे। बारिश होने पर सभी पेड़ के नीचे खड़े हो गए। तभी बिजली गिरी। गंभीर रूप से झुलसे लोगों को मानेसर स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में दाखिल कराया गया है। पुलिस सूचना के बाद मौके पर पहुंची अभी नाम व पते की जानकारी नहीं मिल सकी। पूरी घटना सोसायटी के एक फ्लैट में लगे बाहरी कैमरे में भी कैद हो गई। फुटेज में  बिजली गिरने के बाद चारों व्यक्ति गिरते दिखाई दे रहे हैं।

शुक्रवार की सुबह दिल्ली में बादल छाए रहे और कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हुई। देश के कई राज्यों में बादल छाए हुए हैं और यहां बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के मुताबिक पहाड़ी राज्यों में भी बर्फबारी और बारिश का अनुमान है। स्काइमेट वेदर रिपोर्ट के मुताबिक एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे जम्मू कश्मीर के पास दिखाई दे रहा है।

दिल्ली- यूपी-बिहार सहित इन राज्यों में आंधी-बारिश की चेतावनी, यहां अलर्ट जारी

इसके साथ ही पंजाब, दिल्ली ,चंडीगढ़ राजस्थान, हरियाणा, बिहार, यूपी, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में तेज गरज के साथ आंधी के आसार हैं। मौसम विभाग ने इन राज्यों के लिए अलर्ट जारी किया है। वहीं विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, केरल और जम्मू-कश्मीर में भी गरज के साथ तेज हवाओं को लेकर सावधान रहने को कहा गया है। पूर्वोत्तर भारत के सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु के भी कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है।

दिल्ली में बदला मौसम का मिजाज (Weather Update news Delhi-ncr )

दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को सुबह आसमान को घने काले बादलों ने ढक लिया था। इन बादलों के चलते कई जगहों पर तेज गर्जना के साथ बारिश भी दर्ज की गई। जनकपुरी, उत्तमनगर, पंजाबी बाग, नारायण, धौला कुआं, महरौली, साकेत, एम्स, करोल बाग, लक्ष्मी नगर, मयूर विहार समेत गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा और गाज़ियाबाद में भी बारिश हुई। इसी समय राजस्थान और हरियाणा के भी कई हिस्सों में गरज के साथ अच्छी बारिश दर्ज की गई। वहीं शाम को गुरुग्राम व आसपास के क्षेत्रों में बारिश हुई।

ध्य प्रदेश के सभी संभागों में बारिश का अनुमान (Weather Update news MP)

मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में गुरुवार को हल्की बारिश हुई। अगले 24 घंटे में प्रदेश के पांच संभागों में बारिश होने का अनुमान है। आईएमडी के भोपाल केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ने बताया कि अगले 24 घंटों में प्रदेश के ग्वालियर, चंबल, जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद और सागर संभागों के अलग-अलग स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि दक्षिण-पूर्व मध्य प्रदेश में ऊपरी हवा के चक्रवाती दबाव और पश्चिमी राजस्थान पर ऊपरी हवा के संचलन के कारण बूंदाबांदी हुई है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में रविवार तक ऐसा मौसम बना रह सकता है।

राजस्थान के कई इलाकों में बारिश, ओलावृष्टि का अनुमान (Weather Update news Rajasthan)

मौसम विभाग ने आगामी दो दिन में राज्य के कई हिस्सों में बारिश व ओलावृष्टि का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के मुताबिक एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से अगले 48 घंटों तक राज्य के कोटा, भरतपुर, जयपुर, अजमेर तथा बीकानेर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं मौसम बदलेगा। इन जिलों में बिजली चमकने, अचानक तेज हवाएं चलने तथा कहीं कहीं ओलावृष्टि होने की भी संभावना है। इस मौसमी बदलाव का असर 12 मार्च को  देखने को मिलेगा जबकि 13 मार्च से एक बार पुनः मौसम शुष्क रहेगा।

जानें- उत्तर भारत में क्यों अचानक बदला मौसम
स्काईमेट वेदर के अनुसार जम्मू कश्मीर और इससे सटे पाकिस्तान के ऊपर एक बेहद सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है और इस सिस्टम के प्रभाव से विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर-पश्चिमी राजस्थान और इससे सटे भागों पर है। इन दोनों मौसमी सिस्टमों के अलावा एक अन्य मौसमी सिस्टम दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश के ऊपर चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के रूप में सक्रिय हुआ है। यह तीनों सिस्टम मौसम को सक्रिय करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। वर्तमान पश्चिमी विक्षोभ के आगे निकल जाने के बाद भी एक के बाद एक श्रृंखलाबद्ध ढंग से पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत से होकर गुजरने वाले हैं। लेकिन आगामी मौसमी सिस्टमों का प्रभाव उत्तर भारत के मैदानी इलाकों और मध्य भारत के क्षेत्रों पर होने की संभावना फिलहाल नहीं है।

प्रातिक्रिया दे