Breaking News

इंटरनेशनल एनर्जी कॉन्फ्रेंस:PM मोदी को ग्लोबल लीडरशिप अवॉर्ड मिला, महात्मा गांधी को पर्यावरण का सबसे महान चैंपियन बताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शुक्रवार को एनुअल इंटरनेशनल एनर्जी कॉन्फ्रेंस में CERAWeek ग्लोबल एनर्जी और एनवायरमेंटल लीडरशिप अवॉर्ड दिया गया। 1 से 5 मार्च तक हुए इस कार्यक्रम को PM मोदी ने संबोधित भी किया। उन्होंने कहा कि मैं इस पुरस्कार को अपने देश के लोगों को समर्पित करता हूं। मैं इस पुरस्कार को हमारी भूमि की गौरवशाली परंपरा के लिए समर्पित करता हूं, जिसने पर्यावरण की देखभाल के लिए रास्ता दिखाया है। आप किसी भी भाषा में भारतीय साहित्य को पढ़ लीजिए, आपको पता चलेगा कि लोगों का प्रकृति के साथ गहरा संबंध रहा है।

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के रूप में हमारे पास अब तक के सबसे महान एनवायरनमेंट चैंपियन हैं। अगर उनके दिखाए रास्ते पर चला जाए तो हम आज की समस्याओं का सामना नहीं करेंगे। आज दुनिया फिटनेस और वेलनेस पर ध्यान दे रही है। हेल्दी और ऑर्गेनिक खाने की मांग बढ़ रही है। भारत अपने मसालों और आयुर्वेद के प्रोडक्ट के जरिए इस बदलाव को आगे तक ले जा सकता है।

मोदी ने कहा कि क्लाइमेट चेंज और आपदाएं आज सबसे बड़ी चुनौतियां हैं। उनसे लड़ने के 2 तरीके हैं। एक राजनीति, कानूनों, नियमों और आदेशों से निकलता है। इनका अपना महत्व है, लेकिन इन शब्दों से परे भी कुछ है। जलवायु परिवर्तन से लड़ने का सबसे शक्तिशाली तरीका है अपने व्यवहार को बदलना।

PM मोदी की स्पीच की खास बातें

एनर्जी इंडस्ट्री के लीडर्स ने शिरकत की
इस एनुअल इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस में एनर्जी इंडस्ट्री के लीडर्स, एक्सपर्ट्स, सरकारी अधिकारी और पॉलिसी मेकर, टेक्नोलॉजी क्षेत्र के लीडर, वित्तीय-औद्योगिक संस्थाएं और एनर्जी टेक्नोलॉजी के इनोवेटर्स का समूह शिरकत करते हैं।

इवेंट के आयोजक IHS मार्किट ने बताया कि सम्मेलन में अमेरिका के राष्ट्रपति के प्रतिनिधि जॉन कैरी, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष और ब्रेकथ्रू एनर्जी के फाउंडर बिल गेट्स और सऊदी अरामको के CEO अमीन नासिर शामिल हुए।

प्रातिक्रिया दे