Breaking News

माइनस 50 डिग्री पर फ्रोजन सिटी:रूस के वोरकुता शहर का 2013 से खाली पड़ा ये इलाका जमा, सुनसान पड़ी इमारतों में सिर्फ बर्फ ही बर्फ

रूस के शहर वोरकुता से 17 किमी दूर बसा एक कस्बा इन दिनों जम सा गया है। यहां सर्दियों में पारा माइनस 50 डिग्री तक गिर जाता है। यही वजह है कि ये इलाका 2013 से खाली पड़ा है, क्योंकि असहनीय ठंड के चलते लोग यहां से जा चुके हैं। इन खाली इमारतों का हर कोना बर्फ से पटा हुआ है। सड़कों पर खड़े वाहन जमकर जड़ हो गए हैं।

रूस के वोरकुता से कुछ किमी दूर बसा ये इलाका यूरोप के सबसे ठंडे इलाकों में शामिल है। सर्दी की इंतेहा ऐसी कि हर चीज जम गई है। कभी यहां 70 हजार से ज्यादा लोग रहते थे। सर्दी के कारण अब ये वीरान हो चुका है। एक समय इस इलाके में स्टालिन ने कैदियों को रखने के लिए गुलाग कैदखाना तक बनवा दिया था। शहर की सुनसान पड़ी इमारतों के अंदर के हालात भी डरावने हैं।

ठंड के चलते ही इन घरों की हालत बेहद खराब हो चुकी है। खिड़कियां बर्फ से पूरी तरह जम चुकी हैं। ड्राइंग रूप में फर्नीचर से लेकर झूमर तक में बर्फ ही बर्फ है। कमरों से लेकर किचन की खिड़कियों तक बर्फ जम जाने से हवा का आना ही बंद हो गया है।

सीढ़ियों से लेकर रेलिंग तक बर्फ से पटी हुई हैं। तस्वीरें इस बात की गवाह बन चुकी हैं कि भीषण सर्दी के चलते ही यहां से इंसानों का पलायन हुआ होगा। खाली आशियाने शायद यही कहते नजर आ रहे हैं कि वीरानगी से पहले हम भी आबाद थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *