Breaking News

कोरोना टीकाकरण का दूसरा दिन:राजधानी दिल्ली में फ्रंट लाइन और हेल्थ वर्कर्स से ज्यादा बुजुर्गों में दिखा वैक्सीनेशन का उत्साह

राजधानी दिल्ली में कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर बुजुर्गों में खासा उत्साह दिख रहा है। दो दिनों में फ्रंट लाइन वर्कर्स और हेल्थ वर्कर्स की तुलना में बुजुर्गों ने टीकाकरण में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। भास्कर की टीम ने मंगलवार को दिल्ली के दो सरकारी अस्पतालों तिब्बिया मेडिकल कॉलेज और एन सी जोशी मेमोरियल हॉस्पिटल करोलबाग का दौरा कर जमीनी हकीकत को समझा। यहां इनके लिए जलपान की व्यवस्था की गई थी। साथ ही टीकाकरण के बाद किसी भी तरह के साइड इफेक्ट को देखने के लिए करीब 30 मिनट तक उन्हें मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रखा गया।

5,176 बुजुर्गो ने पहले दिन टीका लगवाया
सोमवार को कुल 15,521 लोगों को टीका लगा। इसमें कुल 12,435 कर्मचारियों को टीके की पहली डोज दी गई। इनमें बुजुर्गों की संख्या ज्यादा रही। वही दूसरी ओर 3,086 हेल्थ वर्कर्स ने वैक्सीन की दूसरी डोज ली। विभाग के अनुसार 5,176 बुजुर्गो ने पहले दिन टीका लगवाया। अग्रिम पंक्ति के 4,296 कर्मचारियों ने टीका लिया।

अब तक 65% फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लग चुका है। सरकारी अस्पतालों में मुफ्त वैक्सीनेशन किया जा रहा है, जबकि प्राइवेट अस्पतालों में टीके के लिए 250 रुपए की फीस ली जा रही है।

दिल्ली में 18 लाख लोगों को लगेगा टीका
दिल्ली में 60 साल से अधिक उम्र के करीब 15 लाख लोग हैं। वहीं, 45 से 59 वर्ष के ऐसे करीब तीन लाख लोग माने जा सकते हैं, जिन्हें पहले से कोई बीमारी है। एक अनुमान के मुताबिक राजधानी दिल्ली में करीब 18 लाख लोगों को कोरोना का टीका लगाया जाएगा।

नोड्ल अधिकारी बोले- किसी को साइड इफेक्ट नहीं
एन सी ज़ोशी मेमोरियल अस्पताल की नोडल अधिकारी ने बताया कि बुजुर्गों में वैक्सीनेशन को लेकर कोई डर नहीं है। उनके हर एक सवाल का जवाब दिया जा रहा है। साथ ही अब तक किसी भी सीनियर सिटीजन को वैक्सीन का साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की डोज उपलब्ध है।

बुज़ुर्ग बोले- वैक्सीन से डरने की जरूरत नहीं

वैक्सीन लेने आए 56 साल के स्वामी नित्या दीपाननद ने बताया कि मुझे हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी है। आज दूसरा डोज लेने आया हूं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वैक्सीन से डरने की जरूरत नहीं है। आम लोग आएं और वैक्सीनेशन में हिस्सा लेकर देश को कोरोना मुक्त बनाएं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *