Breaking News

83 साल के रतन टाटा: जानिए उनके बारे में 10 अहम बातें

Ratan Tata की गिनती देश के सफल कारोबारियों में होती है। 28 दिसंबर 1937 में गुजरात  के सूरत में जन्में देश के सबसे सफल उद्योगपतियों में शामिल रतन टाटा (Ratan Tata) आज 83 साल के हो चुके हैं। आज उनके जन्मदिन पर जानिए उनके बारे में 10 अहम बातें..

1. रतन टाटा, टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी टाटा के दत्तक पोते नवल टाटा के बेटे हैं।
2  टाटा गुजरात के पूंजीपति परिवार से थे लेकिन इसके बावजूद उनका बचपन अच्छा नहीं बीता और इसकी वजह थी उनके माता-पिता का साथ में न रहना। टाटा बहुत छोटे थे जब उनके मां-पिता अनबन के चलते अलग रहने लगे।
3. टाटा का पालन-पोषण उनकी दादी ने की और उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए वह मुंबई चले गए।
4. मुंबई में पढ़ाई पूरी करने के बाद टाटा ने  कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से आर्किटेक्चर बीएस और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम किया।
5. रतन टाटा, टाटा ग्रुप के 5वें अध्यक्ष बनें। गौरतलब है कि टाटा ग्रुप में महज 6 अध्यक्ष बने हैं जिसमें से 2 अध्यक्ष टाटा परिवार से नहीं है। टाटा ग्रुप को देश की भरोसेमंद कंपनी माना जाता है।
6. टाटा कंपनी तब कंट्रोवर्सी में आई जब उन्होंने अपने छठे अध्यक्ष साइरस मिस्त्री को कंपनी से बर्खास्त कर दिया।
8. साइरस मिस्त्री के हटाए जाने के बाद रतन टाटा ने अंतरिम चेयरमैन के तौर परकुछ समय काम किया।
9. देश में पहली बार नमक बनाने का काम 1927 में गुजरात के ओखा में शुरू किया गया था जिसे जेआरडी टाटा ने 1938 में खरीद लिया था और इसी के साथ टाटा नमक की शुरुआत हुई।
10. साल 2008 में रतन टाटा ने दुनिया की सबसे सस्ती एक लाख रुपये यानी लखटकिया कार नैनो पेश की। दरअसल टाटा ने यह सपना 1997 में ही देखा था जिससे महज 1 लाख रुपये में एक आम आदमी अपने कार के सपने को पूरा कर सके।

प्रातिक्रिया दे