Breaking News

कोरोना महामारी ने लोगों के बीच बढ़ाई नफरत:अमेरिका में चीनियों पर नस्लीय हमले बढ़े, न्यूयॉर्क में इस तरह के 10 गुना ज्यादा केस

न्यूयॉर्क के चाइनाटाउन में बीते गुरुवार को दक्षिण एशियाई मूल के शख्स को चाकू से हमला करके जख्मी कर दिया गया। 31 जनवरी को सिलिकॉन वैली में 19 साल के हमलावर ने 84 साल के बुजुर्ग की हत्या कर दी। अमेरिका में बीते एक साल से ऐसे मामलों की बाढ़ आई हुई है। मार्च से दिसंबर 2020 के बीच दक्षिण एशियाई लोगों पर तीन हजार से ज्यादा हमले हो चुके हैं।

अकेले न्यूयॉर्क में ही 2019 की तुलना में 10 गुना हमले बढ़े हैं। इन हमलों के ज्यादातर शिकार चीन, ताइवान और थाईलैंड मूल के लोग हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कोरोना के लिए चीन को जिम्मेदार बताया था। तब से ही चीनी मूल के लोगों पर हमले बढ़े हैं। जब महामारी बढ़ना शुरू हुई थी, तब ही एफबीआई ने चेतावनी दी थी कि चीन और एशियाई लोगों पर हमले हो सकते हैं।

हमलों के खिलाफ रैली, प्रदर्शनकारी बोले-9/11 के बाद बनी स्थिति की यादें ताजा हो गई

हमलों के खिलाफ शनिवार को न्यूयॉर्क में रैली निकालकर प्रदर्शन किया गया। न्यूयाॅर्क में एशियाई अमेरिकन कम्युनिटी (चीनी संगठन) की सदस्य लूसी चिंग ने कहा कि इस शहर में प्रवासियों के खिलाफ ऐसी हिंसा नहीं देखी गई है। यह हमले 9/11 के आतंकी हमलों के बाद उपजे हालात की यादें ताजा कर रहे हैं। न्यूयॉर्क सिटी के मेयर बिल डी ब्लासियो ने कहा कि ऐसे हमले अप्रवासियों पर अन्याय हैं। रैली को ब्लासियो ने भी समर्थन दिया। हमले रोकने के लिए प्रवासियों के नेता मेयर के साथ बैठक करेंगे।

एक चौथाई हमले बे एरिया में हुए हैं, जो चीनी मूल के लोगों का हब है

एशियाई प्रशांत नीति- योजना परिषद ने अपराध के खिलाफ अभियान शुरू किया है। इसके तहत NYC.Gov/StopAsianHate नाम का वेबपेज लॉन्च किया। परिषद के मुताबिक एक चौथाई से ज्यादा हमले सैन फ्रांसिस्को के बे एरिया में हुए, जो चीनी मूल के लोगों का हब है। अमेरिका के एक तिहाई चीनी अमेरिकी इसी इलाके में रहते हैं। बीते दो महीने में यहां 32 लोगों पर हमले हुए हैं और उन्हें लूटा गया है।

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ऐसे हमले रोकने के लिए आदेश जारी किया

बढ़ते हमलों पर लगाम लगाने के लिए व्हाइट हाउस ने कदम उठाया है। हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बताया कि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक आदेश में कहा कि चीनी और प्रशांत महाद्वीप के लोगाें के साथ अमेरिका में अपराध और नस्लीय हिंसा स्वीकार्य नहीं हैं। स्वास्थ्य विभाग से कहा गया है कि जब वे महामारी पर चर्चा करें तो इस वर्ग की बात नहीं करें, ऐसा करना अपराध की श्रेणी में आएगा।

प्रातिक्रिया दे