Breaking News

वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट:दुनिया के 10 देश महिलाओं को पूर्ण समान अधिकार देते हैं; भारत 123वें स्थान पर, सऊदी, तुर्की हमसे आगे

 

दुनिया में केवल 10 देश हैं, जो महिलाओं को पूर्ण समान अधिकार और पूर्ण कानूनी सुरक्षा देते हैं। जबकि भारत समेत 180 देश ऐसे हैं, जो महिलाओं को समान अधिकार दे पाने में सक्षम नहीं है। वर्ल्ड बैंक की महिला, कारोबार और कानून 2021 की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है।

 

रिपोर्ट में बताया गया कि 190 देशों की सूची में बेल्जियम, फ्रांस, डेनमार्क, लातविया, लक्जमबर्ग, स्वीडन, आइसलैंड, कनाडा, पुर्तगाल और आयरलैंड ऐसे देश हैं, जो महिलाओं को आंदोलन और बोलने की आजादी के साथ, समान काम, समान वेतन का अधिकार तो देते ही हैं। साथ ही शादी करने, बच्चे पैदा करने और कारोबार चुनने तक का अधिकार देते हैं। लेकिन आश्चर्य की बात यह कि इनमें भारत 123वें स्थान पर है। जबकि इस मामले में इस्लामिक देश तुर्की (78), इजरायल (87) और सऊदी अरब (94) भी हमसे आगे हैं।

 

रिपोर्ट में बताया गया कि भारत कुछ मामलों में महिलाओं को पूर्ण अधिकार देता है। लेकिन समान वेतन, मातृत्व, आंत्रप्रेन्योर, संपत्ति और पेंशन जैसे मामलों में पीछे है। वर्ल्ड बैंक ने भारत को 100 में 74.4 रैंक दी है। दूसरी ओर, महिलाओं को अधिकार देने के मामले में सऊदी की रैंकिंग में सुधार हुआ है। अमेरिका और पेरू की रैंकिंग गिरी है। वहीं इस सूची में यमन और कुवैत सबसे फिसड्डी हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *