Breaking News

बच्चों पर वैक्सीन ट्रायल:ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनिका ने 6 से 17 साल के बच्चों पर ट्रायल शुरू किए, 300 वॉलेंटियर हिस्सा लेंगे

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनिका ने बच्चों के लिए स्पेशल कोविड-19 वैक्सीन बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। लंदन में इसके ट्रायल भी शुरू हो गए हैं। कुल 300 बच्चे इसमें हिस्सा ले रहे हैं। इनकी उम्र 6 से 17 साल के बीच है। इस ट्रायल का एक मकसद यह जानना भी है कि वर्तमान वैक्सीन इस उम्र वर्ग के बच्चों पर कितनी असरकारक है। फिलहाल, ब्रिटेन में वैक्सीन जिन लोगों को लगाई जा रही है, उनकी उम्र 18 साल या इससे ज्यादा है।

कई सेंटर्स पर ट्रायल
itv.com की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनिका का यह वैक्सीन ट्रायल शनिवार को शुरू हुआ। इसके लिए कंपनी ने कई सेंटर्स पर प्रॉसेस शुरू किया है। शुरुआत में 240 बच्चों को वैक्सीन डोज दिए गए हैं। 16 साल की मायरा ने सोशल मीडिया पर लिखा- मैं भी ट्रायल में बतौर वॉलेंटियर हिस्सा ले रहू हूं। उम्मीद है हमारे पास बेहतर नतीजे आएंगे। पूरी महामारी के दौरान मैं इस बात का इंतजार कर रही थी कि किस तरह योगदान दे सकती हूं।

दूसरा डोज चार हफ्ते बाद
ब्रिटेन में कुल तीन वैक्सीन को मंजूरी दी गई है। इनमें ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनिका के अलावा फाइजर-बायोएनटेक और मॉडर्ना शामिल हैं। कुछ बच्चों को पहला डोज दिया जा चुका है। दूसरा डोज चार हफ्ते बाद दिया जाएगा। क्लीनिकल ट्रायल्स कर रही टीम में शामिल नर्स हन्ना रॉबिन्सन ने कहा- हम ये देखना चाहते हैं कि वैक्सीन का इस उम्र के बच्चों पर भी वही असर होता है जो वयस्कों पर हुआ है। इसकी एफिकेसी जानना जरूरी है। अगर ऐसा हुआ तो बच्चों को भी महामारी से बचाया जा सकेगा और साल के आखिर तक इनके लिए भी वैक्सीन मौजूद हो सकता है।

प्रातिक्रिया दे