Breaking News

USA तक पहुंचा किसान आंदोलन का प्रचार:किसान आंदोलन के समर्थन में न्यूयॉर्क टाइम्स में छपा एक पेज का विज्ञापन

तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसान आंदोलन का प्रचार अब अमेरिका तक पहुंच गया है। वहां के सबसे बड़े अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स में किसानों के समर्थन में पूरे पन्ने का एक विज्ञापन प्रकाशित हुआ। इस विज्ञापन में लिखा है कि इस आंदोलन को 70 से ज्यादा मानवाधिकार संगठन समर्थन दे रहे हैं।

विज्ञापन में आरोप लगाया गया है कि भारत सरकार ने आंसू गैस, पानी, गिरफ्तारी कर दमन किया और कथित प्रायोजित हिंसा से शांतिपूर्ण विरोध का जवाब दिया। विज्ञापनदाताओं ने मांग की है कि मानवाधिकारों का हनन बंद हो।

बता दें कि आंदोलन के पक्ष में हॉलीवुड गायिका रिहाना, पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने आवाज उठाई। उसके बाद भारत में टूलकिट मामला सामने आया, जिसमें 3 लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज हुआ।

मुलुक के पिता बोले- हार्ड डिस्क दिल्ली पुलिस ले गई

टूलकिट मामले में राजद्रोह का सामना कर रहे पर्यावरण कार्यकर्ता शांतनु मुलुक के पिता ने बड़ा दावा किया है। महाराष्ट्र के बीड में मुलुक के पिता शिवलाल ने कहा, ‘खुद को दिल्ली पुलिस के जवान बताने वाले दो लोग घर आए थे। उन्होंने बगैर वारंट के तलाशी ली और कंप्यूटर की एक हार्ड डिस्क और अन्य सामग्री जब्त कर लीं।’ इसकी शिकायत पुलिस से की है।

कमल हासन बोले- देशद्रोह के नाम पर असंतोष दबा रहे

अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने सोशल मीडिया पर लिखा- शर्म की बात है कि असंतोष की आवाज औपनिवेशिक काल की तरह दबाई जा रही है। पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया जाना चौंकाने वाला है।

प्रातिक्रिया दे