Breaking News

कोरोना दुनिया में:साउथ अफ्रीका में हेल्थ वर्कर्स को बिना अप्रूवल वाली वैक्सीन लगेगी, फ्रांस में एक दिन में 586 संक्रमितों की मौत

दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 11.01 करोड़ से ज्यादा हो गया। 8 करोड़ 48 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 24 लाख 28 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं।

दक्षिण अफ्रीकी सरकार का फैसला
लंबे इंतजार के बाद आखिरकार साउथ अफ्रीकी सरकार ने वैक्सीनेशन प्रॉसेस शुरू करने का फैसला किया है, लेकिन इससे कई लोग हैरान हैं। सरकार ने यहां जॉनसन एंड जॉनसन की अनअप्रूव्ड वैक्सीन हेल्थ वर्कर्स को देने का फैसला किया है। इसके ट्रायल अब तक जारी हैं। हेल्थ मिनिस्टर ने खुद इस बात की पुष्टि की है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हेल्थ स्टाफ के लिए सिंगल डोज वैक्सीन के 80 हजार डोज साउथ अफ्रीका पहुंच चुके हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, यह वैक्सीन सिर्फ रिसर्च के हिसाब से दी जा रही है। इस दौरान हेल्थ वर्कर्स को लगातार मॉनिटर किया जाएगा कि कहीं उन्हें किसी तरह के इन्फेक्शन या साइड इफेक्ट्स तो नहीं हो रही हैं। इसके अलावा इसी कंपनी के 5 लाख वैक्सीन और मंगाने की तैयारी कर रही है।

फ्रांस में फिर मुश्किल
फ्रांस में एक बार फिर कोरोना की नई लहर मुश्किलें पैदा करती दिख रही है। यहां दो दिन में मरने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है। सोमवार को 724 मौतों के बाद मंगलवार को 586 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। हेल्थ मिनिस्ट्री द्वारा जारी डेटा के मुताबिक, सात दिन में 381 लोगों की मौत हुई। हालांकि, जनवरी की तुलना में यह फिर भी कम है। पिछले महीने यानी जनवरी में औसतन 400 लोगों की हर दिन संक्रमण से मौत हुई थी।

न्यूजीलैंड में दो नए केस
न्यूजीलैंड में एक बार फिर दिक्कतें पैदा हो गई हैं। दो दिन तक कोई केस न मिलने के बाद मंगलवार को एक बार फिर ऑकलैंड में दो केस सामने आए। सरकार ने माना है कि यह कम्युनिटी ट्रांसफर का मामला है। इसके पहले रविवार को एक ही परिवार के तीन लोगों को संक्रमित पाया गया था। इसके बाद ऑकलैंड में तीन दिन का लॉकडाउन घोषित कर दिया था। स्थिति की समीक्षा के लिए आज प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न कैबिनेट मीटिंग करने जा रही हैं।

अमेरिका एयरलाइंस को नुकसान
‘द गार्डियन’ ने अमेरिकी एविएशन एक्सपर्ट्स की एक रिपोर्ट के हवाले से दावा किया है कि देश के सिविल एविएशन सेक्टर में 1984 के बाद पिछले साल यानी 2020 में सबसे ज्यादा गिरावट दर्ज की गई। इस दौरान 60% की गिरावट दर्ज की गई। 2020 में सिर्फ 368 मिलियन पैसेंजर्स ने एयरलाइंस का इस्तेमाल किया। 2019 में यही संख्या 922.6 मिलियन थी। इसके पहले 1984 में यह आंकड़ा महज 351.6 मिलियन था। एक्सपर्ट्स का मानना है कि 2023 या 2024 तक ही हालात सामान्य हो पाएंगे।

टॉप-10 देश, जहां अब तक सबसे ज्यादा लोग संक्रमित हुए

(ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus/ के मुताबिक हैं)

प्रातिक्रिया दे