Breaking News

झारखंड में जनसंख्या नीति लागू करने की मांग, कांग्रेस बोली-एजेंडा थोपने की कोशिश कर रही BJP

झारखंड में जनसंख्या नीति लागू करने की मांग, कांग्रेस बोली-एजेंडा थोपने की कोशिश कर रही BJP

 

Ranchi: यूपी के बाद अब झारखंड में भी जनसंख्या नीति (Population Policy) लागू करने की मांग की जा रही है. दरअसल, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (UP Yogi Adityanath Government) ने राज्य में जनसंख्या नीति लागू कर दी है. जिसके मुताबिक दो या दो से कम बच्चों वाले परिवार को सरकारी योजनाओं में प्राथमिकता के आधार पर लाभ मिलेगा. अब इस नीति को झारखंड समेत पूरे देश में भी लागू करने की मांग की जा रही है. झारखंड में ये मांग विपक्षी दल बीजेपी की ओर से की गयी है. हालांकि, सत्ता पक्ष बीजेपी की इस मांग को लेकर गंभीर नहीं दिख रहा है.

बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी (Babu Lal Marandi) के मुताबिक झारखंड ही नहीं पूरे देश में इसे लागू करने पर विचार होना चाहिए. देश में जिस तरीके से जनसंख्या बढ़ रही है उसने कई समस्या को जन्म दिया है. जब झारखंड बना, उस समय यहां कि आबादी महज 2 करोड़ 18 लाख थी, जिस तेजी से जनसंख्या बढ़ रही है, उसी तेजी से गरीबी भी बढ़ रही है.रोजगार के अवसर सीमित हो रहे हैं.

वहीं, बीजेपी विधायक सीपी सिंह (MLA CP Singh) के मुताबिक झारखंड में भी नई जनसंख्या नीति बननी चाहिए, यहां भी जनसंख्या और भौगोलिक दृष्टि से क्षेत्रफल की दृष्टि से नीति बननी चाहिए, ताकि यहां रहने वाले लोगों को सारे संसाधन का लाभ मिल सके.

विपक्षी दल बीजेपी की डिमांड पर सत्ताधारी दलों ने भौंहे टेढ़ी कर ली है. जेएमएम और कांग्रेस के मुताबिक बीजेपी अपना एजेंडा थोपने की कोशिश कर रही है. झारखंड के मंत्री आलमगीर आलम का कहना है की बीजेपी का अपना एजेंडा है और वो उसी एजेंडे के तहत बातें कर रही है. आलमगीर आलम ने कहा की आज के दिन में लोगों में जागरूकता पैदा हुई है, जो 15-20 साल पहले नहीं था, जिसका नतीजा यह है की जनसंख्या जिस रफ्तार से बढ़ रही थी, अब धीरे-धीरे घटी है.

वहीं, झारखंड सरकार में पेयजल मंत्री मिथिलेश ठाकुर का कहना है की जनसंख्या को लेकर कानून कोई नई बात नहीं है, यह बरसों से चल रहा है. मिथिलेश ठाकुर के मुताबिक यूपी चुनाव आते ही बीजेपी जनता के ध्यान भटका रही है, बीजेपी विकास का काम छोड़ अलग-अलग मुद्दे लाकर जनता को गुमराह कर रही है.

प्रातिक्रिया दे