Breaking News

सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक, दिल्ली से ग्वालियर आते वक्त हुई यह गलती

सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक, दिल्ली से ग्वालियर आते वक्त हुई यह गलती

मुरैनाः बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई. दरअसल, सिंधिया जब सड़क मार्ग से दिल्ली से ग्वालियर आ रहे थे तभी सिंधिया के काफिले में लगा पायलट वाहन सिंधिया की गाड़ी को छोड़कर किसी और कार की पायलटिंग करने लगा. इस घटना के बाद 9 पुलिस कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया है. 

दरअसल, बताया जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का काफिला जब ग्वालियर में प्रवेश करने वाला था उससे पहले ही सिंधिया जैसी एक कार पायलट वाहन को ओवरटेक करके आगे निकल गई. जिसके बाद पायलट वाहन उसके पीछे लग गया. जबकि सिंधिया बिना पायलट वाहन के करीब 7 किलोमीटर आगे तक आ गए. जैसे ही इस बात की जानकारी प्रशासन को लगी तो हड़कंप मच गया. इस घटना के बाद ग्वालियर और मुरैना जिले के  14 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है. 

मुरैना एसपी ने बताया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे को लेकर एक पायलट वाहन तैयार रहता है. जो उनके काफिले के आगे-आगे चलता है. आज जब सिंधिया ग्वालियर आ रहे तो  ग्वालियर पुलिस की टीम उसी कार को सिंधिया की कार समझकर पायलटिंग करने लगी. कुछ समय तक पायलटिंग की. जब कार बार-बार ओवरटेक कर रही थी तो पुलिस अफसरों को शक हुआ. जिसके बाद उन्हें पता चला कि वह किसी दूसरी कार को फॉलो कर रहे थे. 

मामले की चल रही जांच 
वहीं इस मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि ग्वालियर के पांच और मुरैना जिले के 9 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. जबकि सिंधिया की सुरक्षा में हुई इस चूक की जांच की जा रही है. जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट सौंपी जाएगी. 

ग्वालियर और मुरैना पुलिस के बीच हुई गफलत 
बताया जा रहा है कि यह पूरा मामला ग्वालियर और मुरैना पुलिस के बीच हुई गफलत की वजह से हुआ. सिंधिया मध्य प्रदेश में शुरू हुआ महावैक्सीनेशन अभियान में लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए ग्वालियर-चंबल अंचल के दौरे पर पहुंचे थे.  उनको लगातार हर जिले में पुलिस पायलटिंग और फॉलो वाहन मिल रहा था. मुरैना जिले की सीमा में प्रवेश करते ही मुरैना की पायलटिंग टीम ने सिंधिया के आगे चलना शुरू किया. लेकिन ग्वालियर और मुरैना पुलिस के बीच गफलत हो गई और पायलट वाहन सिंधिया की कार को छोड़कर दूसरी कार को फॉलो करने लगा. 

12 जून को भी रोका गया था सिंधिया का काफिला
दरअसल, इससे पहले 12 जून को भी सिंधिया का काफिला रोक लिया गया था. सिंधिया की चलती कार को कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI के कार्यकर्ताओं ने रोक दिया था. इसे भी सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक माना गया था. 

ये भी पढ़ेंः तहसील परिसर में युवक ने खुद को मारी गोली, प्रशासनिक अधिकारी पर लगाया यह बड़ा आरोप

WATCH LIVE TV