Breaking News

तहसील परिसर में युवक ने खुद को मारी गोली, प्रशासनिक अधिकारी पर लगाया यह बड़ा आरोप

तहसील परिसर में युवक ने खुद को मारी गोली, प्रशासनिक अधिकारी पर लगाया यह बड़ा आरोप

रायसेनः रायसेन जिले के बेगमगंज में एक युवक ने फेसबुक लाइव करते हुए खुद को गोली मार ली. मौके से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें युवक ने अपनी परेशानी का जिक्र करते हुए पूर्व एसडीएम समेत आधा दर्जन लोगों पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. इस घटना के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया. 

यह है पूरा मामला 
दरअसल, बेगमगंज में रहने वाले सौरभ जैन नाम के एक युवक ने आज तहसील परिसर में खुद को गोली मार ली. घटना के बाद युवक को गंभीर हालत में सागर रेफर किया गया है. युवक ने पूर्व एसडीएम पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. 

मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि बेगमगंज सिविल अस्पताल की बाउंड्री वाल से जुड़ा हुआ है. दरअसल, सौरभ जैन का कहना है कि जहां बाउंड्री वाल बनाई गई है वह उसका हिस्सा है. ऐसे में सौरभ जैन ने पहले सिविल अस्पताल की जिस जमीन पर बाउंड्री वाल बनी है उसकी नापतोल कराई थी, जिसके बाद यह मामला कोर्ट में पहुंचा. पिछले कई सालों से यह मामला कोर्ट में चल रहा है. इस बीच बाद में सिविल अस्पताल की बाउंड्री वाल तैयार हो गई. लेकिन एक रात अचानक उसे तोड़ दिया गया, इस पूरे मामले में सौरभ जैन को आरोपी बनाया गया था. 

गोली मारने से पहले रिकॉर्ड किया वीडियो 
आज सौरभ जैन ने अचानक तहसील परिसर में एक वीडियो बनाया जिसमें उसने आत्महत्या करने का कारण जमीन के लिए लिया कर्ज का ब्यौरा और ब्याज सहित खुद पर कर्ज होना बताया. सौरभ ने वीडियो में कहा कि उस पर लाखों रुपए का कर्ज हो गया है. साहूकार उससे ब्याज लगाकर तीन गुना राशि मांग रहे हैं. इस बात की जानकारी उनके पिता को नहीं है. वहीं पूर्व एसडीएम से लेकर अन्य कर्मचारियों पर 6 करोड़ राशि खर्च कराने और उसे कर्जदार बनाने के आरोप लगाए गए हैं. वर्तमान एसडीएम तहसीलदार पर भी जमीन का कब्जा नहीं देने का आरोप लगाया गया है. पुलिस पूरे मामले की बारीकी से जांच कर रही है.

वहीं इस मामले को लेकर एसडीएम अभिषेक चौरसिया का कहना है कि उनके यहां इस मामले की अपील चल रही है. कोरोना कर्फ्यू के चलते उनके वकील ही मामले की सुनवाई के लिए उपस्थित नहीं हो पाए कई मामले फिलहाल पेडिंग है. इसलिए सौरभ जैन को परेशान करने का तो सवाल ही नहीं है. वहीं दूसरी तरफ तहसीलदार एन एस परमार का कहना है कि उनके न्यायालय में सौरभ जैन का कोई भी प्रकरण विचारधीन नहीं है ना ही जमीन के कब्जे की. वीडियो में लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं. इस वक्त पूरा प्रशासनिक अमला वैक्सीनेशन में लगा हुआ है. जबकि टीआई इंद्राज सिंह का कहना है कि सौरभ जैन ने आत्महत्या करने के इरादे से तहसील परिसर में खुद को गोली मारी है प्राथमिक उपचार के बाद उसे रेफर किया है प्रकरण दर्ज कर जांच मैं लिया गया है.

ये भी पढ़ेंः MP में पहले ही दिन बना रिकॉर्ड, टारगेट से ज्यादा लोगों का हुआ वैक्सीनेशन

WATCH LIVE TV