Breaking News

बिहारवासियों को दिल्ली में तोहफा, CM नीतीश ने बिहार सदन का किया उद्घाटन, जानें भवन की खासियत

बिहारवासियों को दिल्ली में तोहफा, CM नीतीश ने बिहार सदन का किया उद्घाटन, जानें भवन की खासियत

Patna: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को एक साथ 2136 करोड़ रुपए के भवनों का शिलान्यास और उद्घाटन किया है, जिसमें से 1411 करोड़ रुपए के भवन का उद्घाटन हुआ है और 725 करोड़ रुपए के भवनों का आधारशिला रखी गई है.  

3 साल में सभी बाधाओं को पार कर बना बिहार सदन
दरअसल, पिछले तीन सालों में विभिन्न बाधाओं को पार कर बिहार के निवासियों की सेवा के लिये देश की राजधानी दिल्ली के द्वारका में एक नवनिर्मित बिहार सदन तैयार हो गया है. विभिन्न सरकारी गैर सरकारी कार्य एवं चिकित्सा हेतु बिहार से दिल्ली जाने वाले निवासियों की सुविधा हेतु इसकी परिकल्पना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने की थी.

हालांकि, पहले से बिहार सरकार के दो भवन बिहार निवास व  बिहार भवन नई दिल्ली चाणक्यापुरी में अवस्थित है. परंतु आधुनिक एवं बढ़ते हुए बिहार की बढ़ती हुई आवश्यकता की पूर्ति के लिए तीसरे भवन की आवश्यकता काफी दिनों से महसूस की जा रही थी.

ये भी पढ़ें- बिहार में 6 जुलाई तक लागू रहेगा अनलॉक-3, रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा नाइट कर्फ्यू

3 वर्ष पूर्व CM ने किया था शिलान्यास 
इसके लिए नई दिल्ली के द्वारका में नये बिहार सदन के निर्माण की परिकल्पना की गई और इसकी आधारशिला 2 मई 2018 को मुख्यमंत्री ने शिलान्यास कर रखा था. यह पहला मौका है कि जब पहली बार इस प्रकार की महत्वपूर्ण अत्याधुनिक भवन का निर्माण बिहार सरकार द्वारा बिहार से बाहर सफलतापूर्वक सम्पन्न की गई है, जो बिहार के विकास के लिए एक मील का पत्थर है. 

कोविड-19 के कारण हुए देशव्यापी बंद के बावजूद भवन निर्माण विभाग द्वारा विशेष प्रयास कर इस भवन को बिहारवासियों की सेवा के लिए तैयार कर लिया गया है.

बिहार भवन की खासियत क्या है
8000 वर्ग मीटर भूमि पर अवस्थित इस 12 तल के भवन के निर्माण की कुल लागत ₹78.00 करोड़ है. 16000 वर्ग मीटर से अधिक क्षेत्र वाले इस अत्याधुनिक भवन में कुल 118 कमरे हैं, जिनमें 2 अतिविशिष्ट एवं 8 विशिष्ट हैं.

भूतल पर एक 200 लोगों की क्षमता वाला एक हॉल बनया गया है तथा दो सौ गाड़ियों के पार्किंग के लिए भी व्यवस्था की गई है. Multipurpose Hall के छत पर खुले केन्टीन की व्यस्था की गई है. भवन के निर्माण में पर्यावरण का भी ख्याल रखते हुए सोलर सिस्टम की भी व्यवस्था की गई है. इसके लिए भवन की छत पर सोलर पैनल लगाए गये हैं. भवन में खुले स्थानों एवं पार्क की व्यवस्था भी की गई है.