Breaking News

कोरोना कमजोर पड़ने पर जुलाई में बुलाया जा सकता है संसद का मानसून सत्र: बिरला

Delhi/Jaipur: कोरोना का कहर कम होने के कारण संसद का मानसून सत्र जुलाई के दूसरे हफ्ते में बुलाया जा सकता है. सूत्रों की मानें तो फिलहाल चर्चा यह है कि 15 जुलाई से 13 अगस्त के बीच मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session) बुलाया जा सकता है.

दरअसल, 17वीं लोकसभा के 2 साल पूरे होने पर लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने मानसून सत्र बुलाने के संकेत देते हुए कहा, ‘मैं खुद सत्र बुलाने के पक्ष में हूं.’ बिरला ने कहा कि कोरोना के पीक टाइम में भी सत्र बुलाया था. अभी कोरोना कमजोर जरूर पड़ा है लेकिन पूरी तरह गया नहीं है, पूरी सजगता और सावधानी बरतनी होगी.

हालांकि, बिरला ने कहा कि संसद का सत्र बुलाने के लिए मंत्रिमंडलीय कमेटी फैसला लेती है. बिरला ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि 2 साल के कार्यकाल में आधा समय कोरोना महामारी का सामना करना पड़ा, फिर भी सभी दलों के सहयोग से संसद सत्र चलाया गया. बिरला ने कहा कि एलजेपी मामले में फैसला जल्दबाजी में नहीं लिया गया, चार सांसदों के खिलाफ सीबीआई जांच के लिए विधि विशेषज्ञों की राय ली जा रही है. कोरोना काल में सांसदों के गायब रहने वाले सांसदों की रिपोर्ट मंगवाई है.

उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण जमीन घोटाले की चर्चा नियमानुसार संसद में हो सकती है. बिरला ने कहा कि लोकसभा में डिप्टी स्पीकर का चुनाव करवाना सरकार का काम है, लोकसभा सचिवालय का नहीं.

TMC सांसदों का फैसला
टीएमसी के 2 सांसदों के बीजेपी ज्वाइन करने पर ममता बनर्जी ने ऑब्जेक्शन किया इस सवाल पर ओम बिरला ने कहा कि लोकसभा सचिवालय ऐसे मामले की जांच करता है और दोनों पक्षों को सुना जाता है. इसके लिए एक कमेटी होती है जो दोनों पक्षों को सुनकर फैसला करती. सभी दल और सदस्यों को लोकसभा सचिवालय में अपनी बात रखने का अधिकार है.

LJP मामले में जल्दबाजी में लिया गया फैसला नहीं
बिरला ने कहा कि एलजेपी के मुख्य सचेतक ने हमसे कहा कि हमारे दल में यह फैसला हुआ है. सदन में किस दल का कौन नेता होता है उस पार्टी के मुख्य सचेतक लोकसभा सचिवालय को जानकारी देता है. उनका अपना राजनीतिक विषय है, हमारा नहीं. हमने न्यायपूर्ण तरीके से काम किया है. कोई जल्दबाजी में लिया गया फैसला नहीं है. इससे पहले बीएसपी के मामले में भी इससे भी जल्दी फैसला लिया गया था.

4 सांसदों के खिलाफ CBI जांच के लिए विधि विशेषज्ञों की राय ली जा रही है
चार सांसदों के खिलाफ सीबीआई जांच के लिए पेंडिंग फाइल के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमने विधि विशेषज्ञों की राय ली है. लेकिन राय अलग-अलग होने के कारण अभी तक फैसला नहीं किया जा सका. अभी विशेषज्ञ पता कर रहे हैं कि मामला लोकपाल का है या लोकसभा सचिवालय का, एक राय होने पर जल्दी फैसला कर लिया जाएगा.

कोरोना गायब रहने वाले सांसदों की रिपोर्ट मंगवाई
कोरोना काल में सांसदों के गायब रहने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सभी सांसदों ने अपने-अपने तरीके से जनता की मदद की है. फिर भी हमने सभी सांसदों से कोरोना काल के दौरान किए गए कार्यों की रिपोर्ट मंगवाई है. सबकी रिपोर्ट आने पर पता चलेगा कि किसने क्या काम किया. सांसदों के एमपी लेड लेड को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में बिरला ने कहा कि यह काम सरकार का है. सांसद कोटे में कब कितना धन जारी करना है.

राम मंदिर निर्माण जमीन घोटाले की चर्चा संसद में हो सकती है
अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) बनाने के लिए जमीन घोटाले के सवालों के जवाब में ओम बिरला ने कहा कि संसद के नियमों के मुताबिक सभी विषयो पर चर्चा की जाती है. अगर संसद सत्र में इस विषय पर चर्चा के लिए कोई सुझाव आएगा तो जरूर संसदीय नियमों के अनुसार चर्चा की जाएगी.

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में किसी ने दर्ज नहीं करवाई आपत्ति
सेंट्रल विस्ता प्रोजेक्ट के तहत नए संसद भवन निर्माण को लेकर विपक्ष के आरोपों के जवाब में बिरला ने कहा कि नई बिल्डिंग बनाने के बारे में दोनों सदनों ने सरकार से मांग की थी.100 साल पुराने इस संसद भवन के प्रति हमारी आस्था हमेशा रहेगी. इस सदन ने कई ऐतिहासिक फैसले किए गए हैं. लेकिन वर्तमान परिस्थितियों में यह संसद भवन सभी जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा है इसलिए अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित नए भवन की आवश्यकता महसूस की गई. सभी दल और सदस्यों की मांग पर सरकार ने नए संसद भवन के निर्माण का काम शुरू किया था. संसद भवन निर्माण को लेकर किसी भी दल या सदस्य ने ना कभी विरोध किया और ना आपत्ति नहीं जताई और कोई न कोई पत्र लिखा. किसी भी विषय पर सबको अपनी राय व्यक्त करने का अधिकार है. लेकिन किसी राजनीतिक आरोपों पर मैं टिप्पणी नहीं कर सकता.

2 साल में 400 करोड़ की बचत की 
बिरला ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि सरकारी खर्चों में कमी की जाए, इस पर लोकसभा सचिवालय ने पूरी तरह अमल करते हुए सरकारी खर्चे कम करने के लिए कई उपाय किए गए. पिछले 2 वित्तीय वर्षों में करीब 400 करोड़ रुपए की बचत की है. बिरला ने कहा कि 2019-20 में 151 करोड़ और 2020-21 में 249 करोड़ रुपए की बचत की गई.

brawl stars gems generator brawl stars hack free clash of clans hack free clash of clans hack free clash of clans hack dragon city free gems generator dragon city hack Free Among us mod free amazon gift card generator amazon gift card generator bloons td 6 free free bloons td 6 apk free discord nitro generator free fortnite skins generator free fortnite skins free fortnite skins generator free fortnite skins free fortnite skins generator free fortnite skins free google gift card generator free instagram followers generator free homescapes hack homescapes hack kim kardashian hollywood hack free psn codes generator free psn codes generator nba 2k mobile hack free tiktok followers generator free tiktok followers generator free xbox gift card generator walmart gift card generator free instagram followers generator free fire hack generator free fire hack generator free fire hack generator gta 5 money hack gta 5 money hack free pokemon go spoofer free homescapes hack homescapes hack free imvu credits generator free itunes gift card generator free instagram followers generator free netflix gift card generator kim kardashian hollywood hack free psn codes generator nintendo eshop gift card generator pixel gun 3d hack pixel gun 3d online hack free pubg mobile uc generator free pokemon go spoofer simcity hack generator steam gift card generator free xbox gift card generator click here