Breaking News

इंदौर में बढ़ सकता है कोरोना कर्फ्यू, घर से बाहर निकलने पर मिलेगी ये सजा

इंदौरः मध्य प्रदेश में कोरोन का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. ऐसे में प्रशासन भी लगातार संक्रमण की चेन रोकने में जुटा हुआ है. इंदौर कलेक्टर ने अब एक बड़ा फैसला लिया है. अगर शहर में होम आइसोलेशन के दौरान इलाजरत पॉजिटिव व्यक्ति अगर मोहल्ले या सड़कों पर घूमने निकलेगा तो उस पर एफआईआर दर्ज की जाएगी.

संक्रमित व्यक्तियों के घूमने की शिकायत मिली थी 
दरअसल, इंदौर कलेक्टर ने बताया कि शहर कई क्षेत्रों से इस तरह की शिकायते मिल रही थी कि कोरोना मरीज बाहर घूम रहे हैं. ऐसे में संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है. लगातार शिकायते मिलने के बाद अब इंदौर कलेक्टर ने ऐसे लोगों पर एफआईआर दर्ज करने की बात कही है. कलेक्टर ने कहा कि जो लोग संक्रमित है और होम आइसोलेशन में इलाज करा रहा हैं, ऐसे लोग जब तक ठीक नहीं हो जाते तब तक वह बिल्कुल भी घरों से बाहर न निकले. क्योंकि अगर उनके संपर्क में कोई स्वस्थ्य व्यक्ति आ गया तो वह भी संक्रमित होगा और इससे शहर में संक्रमण और बढ़ेगा.

इंदौर में बढ़ सकता है कोरोना कर्फ्यू
इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने कोरोना की समीक्षा बैठक के शहर में कोरोना कर्फ्यू को आगे बढ़ाने के संकेत भी दिए हैं. उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू  को आगे बढ़ाने पर हो विचार किया जा रहा है.  उन्होंने कहा, संक्रमण को रोकने के लिए चार प्रकार की एक्टिविटी बहुत महत्वपूर्ण है, जिससे संक्रमण की स्पीड में कमी आती है. पहला लोगों की आवाजाही पर रोक और भीड़वाले इलाकों पर पाबंदी, कंजेस्टेड इलाकों के मरीजों को निकालकर कोविड केयर सेंटर पर भेजना और हॉस्ट स्पॉट एरिया में माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाना. क्योंकि संक्रमण को कम करने के लिए यह बहुत जरूरी है.

ये भी पढ़ेंः रेमडेसिविर की कालाबाजारी और ऑक्सीजन की कमी पर कोर्ट ने लगाई सरकार को फटकार

मॉर्निंग वॉक पर न निकले लोग 
कलेक्टर ने कहा कि अभी भी इंदौर में लोग लगातार लापरवाही बरत रहे हैं. कई जगहों पर होम आइसोलेशन में लोग अलग कमरे में रहने की जगह परिवार के साथ रह रहे हैं. कुछ तो बाहर भी घूम रहे हैं. जिससे शहर में संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है. ऐसे लोगों के खिलाफ अब एफआईआर दर्ज की जाएगी. इसके अलावा लोग मॉर्निंग वॉक करने भी सुबह-सुबह जा रहे हैं. जबकि कोरोना कर्फ्यू के दौरान मॉर्निंग वॉक करने पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है. रोक के बाद भी अगर कोई मॉर्निंग वॉक पर निकलेगा तो ऐसे लोगों को ओपन जेल में रखा जाएगा.

इंदौर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मरीज 
बता दें कि इंदौर में तेजी से कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे हैं. पिछले चार दिनों से शहर में लगातार 1800 से ज्यादा कोविड संक्रमित मरीज मिल रहे हैं. ऐसे में प्रशासन लगातार सख्ती बरत रहा है. ऐसे में इंदौर में कोरोना कर्फ्यू बढ़ाए जाने की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है.

ये भी पढ़ेंः भोपाल में प्रदेश के पहले ‘ड्राइव इन सिनेमा’ में 1 मई से वैक्सीनेशन, कार में बैठे-बैठे लगवा सकेंगे टीका