Breaking News

कोरोना की रोकथाम के लिए नीतीश सरकार ने कसी कमर, जारी किये दिशा निर्देश

Patna: Corona की रोकथाम के लिए नीतीश सरकार (Nitish Government) लगातार काम कर रही है. इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish kumar) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 से संबंधित उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की. इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव श्री प्रत्यय अमृत ने राज्य में कोविड-19 की स्थिति के बारें में जानकारी दी.

उन्होंने डेली टेस्ट पॉजिटिविटी रेट, एक्टिव केस, कुल जांच, आरटी-पीसीआर जांच एवं टीकाकरण के संबंध में जानकारी दी. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए उठाये जा रहे कदमों के संबंध में भी प्रधान सचिव स्वास्थ्य ने विस्तृत जानकारी दी.

ये भी पढ़ेंसुशील मोदी की डॉक्टरों से अपील, Corona में मरीजों का सहयोग करें हॉस्पिटल प्रशासन

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मामले प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहे हैं. विशेषज्ञों के अनुसार अभी और बढ़ने की संभावना है. ऐसे में मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुये कहा कि IGIMS सहित सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड बेड की संख्या बढ़ाई जाए. इसके साथ-साथ सभी निजी अस्पतालों में भी कोविड बेड की संख्या को बढ़ाया जाये. कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर हरेक पहलू पर गंभीरतापूर्वक विचार करें और परिस्थिति के अनुसार हर जरुरी कदम उठाएं. कोरोना जांच की संख्या बढ़ाने के साथ-साथ जांच की रिपोर्ट जल्द उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, इससे संक्रमितों का समय पर इलाज किया जा सकेगा. अन्य राज्यों में चुनाव के लिए जो भी पुलिस बल बाहर गई है, वापस लौटने पर उनकी जांच करवाएं. पुलिस बलों की भी नियमित जांच करवाते रहें.

उन्होंने कहा कि आयुष चिकित्सकों, यूनानी चिकित्सकों, दंत चिकित्सकों, सेवानिवृत चिकित्सकों का भी इस महामारी से लड़ने में सहयोग दे सकते हैं. इसके साथ-साथ अन्य प्रकार के चिकित्सा कार्य से भी जुड़े लोगों की ट्रेनिंग कराकर उनका सहयोग लिया जा सकता है. कोरोना जांच में कुछ लोगों की RT-PCR रिपोर्ट निगेटिव आ रही है. लेकिन उनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जा रहे हैं, ऐसे मरीजों के इलाज की भी व्यवस्था अस्पतालों में सुनिश्चित कराई जाये. उन्होंने कहा कि टीकाकरण कार्य में भी और तेजी लायें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी या निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति को पूरा किया जाये. जितने ऑक्सीजन आपूर्ति का अलॉटमेंट केन्द्र सरकार के द्वारा किया गया है, उसके अलावा अगर और ऑक्सीजन की जरूरत है तो राज्य सरकार अपने खर्चे पर उपलब्ध कराएगी. ऑक्सीजन सिलिंडर की बर्बादी एवं बेवजह भंडारण न हो इसका भी ध्यान रखें. दवा के साथ-साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता पर्याप्त रखें ताकि मरीजों को किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं हो. सभी नगर निकायों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में मास्क का वितरण सुनिश्चित कराएं और लोगों को मास्क के प्रयोग के बारे में जानकारी दें.

ये भी पढ़ेंअहमदाबाद से Remdesivir की 14 हजार डोज देर शाम पहुंचेगी पटना: मंगल पांडेय

उन्होंने आगे कहा कि संचार के अन्य माध्यमों के साथ-साथ माइकिंग के द्वारा गांव-गांव तक कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को सतर्क और सजग करने के लिए निरंतर अभियान चलाए जाये. सभी को यह समझाने की जरुरत है कि मास्क का प्रयोग जरूरी है.

बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार उपस्थित थे. जबकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल, पथ निर्माण सह पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा, अपर मुख्य सचिव गृह  चैतन्य प्रसाद, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव अरविंद कुमार चौधरी, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिवआनंद किशोर सहित संबद्ध विभाग के अन्य अधिकारीगण जुड़े हुए थे.