Breaking News

केंद्र सरकार पर हमलावर हुए CM Ashok Gehlot, बोले- GNCTD एक्ट लोकतंत्र की हत्या है

Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. अपने सोशल मीडिया (Social Media) पोस्ट में सीएम ने लिखा कि मोदी सरकार द्वारा दिल्ली सरकार के अधिकार कम करने के लिए बनाया गया GNCTD एक्ट लोकतंत्र की हत्या है. यह एक चुनी हुई सरकार की शक्ति खत्म करना लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan: Phone Tapping को लेकर सियासत तेज़, Congress बोली- Shekhawat वॉयस सैंपल दें

आगे सीएम गहलोत ने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व में फैसला देते हुए चुनी हुई सरकार को ही दिल्ली का असली मुखिया बताया था. मोदी सरकार देश को फ़ासीवाद (Fascism) तरीके से चलाना चाहती है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan Government लाने जा रही Transfer Policy, जानें किसे मिलेगी ज्यादा राहत

चुनावों में हेरा फेरी, निर्वाचित विधायकों की खरीद फरोख्त और दोनों में कामयाब न होने पर संसद में बहुमत के दम पर ऐसे तानाशाही समर्थक बिल पास कर चुनी हुई सरकार की शक्तियों को खत्म करना BJP के शासन का तरीका है.

इस प्रकार तो आने वाले समय में मोदी सरकार किसी भी राज्य में चुनाव हारने पर ऐसे कानून लाकर राज्य सरकार की शक्तियों को समाप्त कर सकती है. मोदी सरकार के इस तानाशाही निर्णय का पार्टी लाइन से ऊपर उठकर राष्ट्रीय स्तर पर विरोध होना चाहिए.

सहकारी संघवाद की वकालत करते प्रधानमंत्री 
विपक्ष में होने के दौरान BJP दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देकर अधिक अधिकारों की मांग करती थी लेकिन सत्ता में आकर ऐसे कानून लाई है. प्रधानमंत्री सहकारी संघवाद की वकालत करते हैं लेकिन ऐसे कानून बनाकर राज्य सरकारों पर केन्द्र के फैसले थोपना चाहते हैं.