Breaking News

कोरोना से फिर लड़ने के लिए हो जाएं तैयार! बढ़ते कहर के बीच जानें क्या है सरकार का प्लान

लखनऊ: देश में कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार हाई अलर्ट पर हैं और यूपी में सभी जिला प्रशासन सावधानी बरतने के लिए तैयार हैं. राजधानी लखनऊ में समुचित रूप से सैनिटाइजेशन का काम शुरू हो गया है. साथ ही, होली को देखते हुए सभी जिलों के अस्पतालों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.

 भी पढ़ें: रहें सावधान! अब UP में भी तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस, यह हैं टॉप-10 जिले

लखनऊ में होगा सैनिटाइजेशन
कोविड-19  संक्रमण की रोकथाम के लिए समुचित सैनिटाइजेशन के उद्देश्य से जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने समतामूलक चौक से सैनिटाइजेशन वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया है. डीएम के साथ नगर आयुक्त अजय द्विवेदी और उनकी टीम भी वहां मौजूद रही.

लखनऊ के अस्पतालों में अलर्ट जारी 
होली के चलते लखनऊ के अस्पतालों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. अब अस्पताल किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहेंगे. केजीएमयू, राम मनोहर लोहिया, सिविल अस्पताल और बलरामपुर अस्पताल में अतिरिक्त बेड रिजर्व किए जाएंगे. ट्रॉमा सेंटर में 50 बेड रिजर्व, अन्य अस्पतालों में एक वॉर्ड आरक्षित रहेगा. आपातकालीन स्थिति को छोड़ सभी डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं. इसके अलावा, 108 और 102 एम्बुलेंस को भी तैयार रखे जाने की योजना बनाई गई है.

ये भी पढ़ें: इस शहर में अगर किसी निकाह में बजा बैंड-बाजा, इमाम दूल्हे-दुल्हन को देंगे ऐसी सजा!

क्या है लखनऊ का हाल?
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोविड संक्रमण गति पकड़ता नजर आ रहा है. बीते 24 घंटे में लखनऊ में कोरोना के 347 नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही शहर में एक्टिव केस का आंकड़ा 1032 पहुंच गया है. बता दें, राज्य में लखनऊ ऐसा शहर हैं, जहां कोविड के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद लागू हो जाती है आचार संहिता, जानें क्या नहीं कर सकते प्रत्याशी

UP में इतनी हुई कोविड टेस्टिंग
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, UP में अभी तक 3 करोड़ से ज्यादा (34260584) लोगों का कोरोना सैंपल लिया जा चुका है. इनमें से 611301 पॉजिटिव पाए गए और 33649283 में कोरोना का वायरस नहीं मिला. वहीं, बीते 24 घंटे में राज्य में 1,44,839 लोगों का टेस्ट हुआ है.