Breaking News

Ajit Singh Murder Case: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, अजीत स‍िंह की हत्‍या में वांछित शूटर मुस्तफा गिरफ्तार

लखनऊः उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुए अजीत सिंह मर्डर केस (Ajit Singh Murder Case) में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. इस मर्डर केस में वांछित शूटर मुस्तफा उर्फ बंटी को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया. अजीत सिंह की हत्या के अलावा मुस्तफा पर तीन मर्डर का आरोप है. 50 हजार का इनामी बदमाश मुस्तफा सुनील राठी गैंग का एक्टिव सदस्य है. इस मर्डर केस के बाद से ही फरार चल रहा था.बीते सोमवार को मुखबिर की सूचना पर विभूति खंड पुलिस ने शूटर मुस्तफा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस उससे वारदात के संबंध में पूछताछ कर रही है.

बागपत में एक शख्स को मारी थी 22 गोली 
इंस्पेक्टर चंद्रशेखर सिंह के अनुसार, मुस्तफा ने बागपत में भी एक हत्याकांड को अंजाम दिया था. मुस्तफा कुख्यात सुनील राठी गैंग का सदस्य है. उसके इशारे पर आरोपित ने कई घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकार की है. पूछताछ में उसने बताया कि वह अपने साथियों के साथ छह जनवरी को बाइक से अजीत की बुलेटप्रूफ गाड़ी का पीछा कर रहा था. कठौता चौराहे पर अजीत अपने साथी मोहर के साथ गाड़ी से उतरा था. इसी बीच मुस्तफा और उसके साथियों ने अजीत पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी थीं. मुस्तफा ने बागपत में भी जिस व्यक्ति की हत्या की थी, उसे करीब 22 गोली मारी थी.

जेल वार्डर भर्ती: नौकरी की दौड़ में हारी जिंदगी की रेस

ये है पूरा मामला
बता दें कि मूल रूप से मऊ के मोहम्मदाबाद गोहना निवासी अजीत सिंह की 6 जनवरी की रात कठौता चौराहे पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. अजीत को हत्यारों ने 22 गोलियां मारी थीं. अजीत आजमगढ़ के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह की हत्या में गवाह थे. अजीत के साथी मोहर सिंह ने आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह, गिरधारी और अखंड सिंह समेत अन्य के खिलाफ साजिश के तहत हत्या की एफआइआर दर्ज कराई थी. इस मामले में जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह को साजिश रचने का आरोपी पाया गया. धनंजय सिंह पर बीते दिनों 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था. हाल ही में उन्होंने प्रयागराज के एमपी, एमलए कोर्ट में सरेंडर कर दिया था.

प्रातिक्रिया दे