Breaking News

हत्यारोपी को Police ठोकती थी सलामी बॉलीवुड से लेकर मंत्रियों तक थी पैठ, हुआ Arrest

Jhunjhunu: हत्या (Murder) के एक आरोपी (Accused) को पुलिस सलामी ठोकती थी. शहर में भ्रमण करने पर पुलिस एस्कॉर्ट उपलब्ध कराती थी. वो मुख्यमंत्रियों के काफिले में दिखता था. नेताओं के साथ चलता था, दिल्ली के संसद तक उसकी पहुंच थी.

यह भी पढ़ें- Jhalawar नाबालिग Gangrape में 3 अन्य आरोपी गिरफ्तार, अब तक कुल 27 Arrest

राजनीति के दिग्गज नेताओं से लेकर बॉलीवुड के सुपर स्टार तक में उसकी पैठ थी. रौब ऐसा था कि न केवल पुलिस, बल्कि मंत्री तक धोखा खा जाते थे. वो शख्स एक पार्टी के बड़े पद पर रह चुका था. केंद्रीय मंत्री का नजदीकी रह चुका है, जिसका फायदा उसने खूब उठाया. 2019 से वो कोर्ट को भी धोखा दे रहा था, जानकर हैरानी होगी कि वह राजस्थान के मोस्ट वांटेड 25 की सूची में शामिल था. पुलिस ने इस शातिर आरोपी के खिलाफ 10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था. आखिरकार जब झुंझुनूं पुलिस ने इस शातिर को गिरफ्तार किया तो इसकी सारी पोल पट्टी खुल गई.

यह भी पढ़ें- Baran में धड़ल्ले से हो रहा अवैध खनन, मूकदर्शक बनकर बैठा प्रशासन

हत्या के मामले में फैसला आने से पहले ही हुआ था गायब 
झुंझुनूं (Jhunjhunu) के खेतड़ीनगर थाना इलाके के गोठड़ा गांव का रहने वाला संदीप उर्फ पिंटू खुद को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बताता है. यह पार्टी बिहार के नेता उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwah) की पार्टी है. उपेंद्र कुशवाहा पिछली मोदी सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री थे. संदीप उर्फ पिंटू सैनी पर 2004 का हत्या का एक मामला दर्ज है, जिसका ट्रायल कोर्ट में चल रहा है. 2019 में जब कोर्ट फैसले के समीप पहुंचा तो संदीप उर्फ पिंटू सैनी गायब हो गया, जिसके बाद कोर्ट ने उसके खिलाफ वारंट जारी कर दिया. पुलिस आरोपी को ढूंढ रही थी, लेकिन आरोपी बेफिक्र होकर कोने-कोने में घूम रहा था.

एसपी ने खंगाली आरोपी की पूरी कुंडली
एसपी मनीष त्रिपाठी ने जब कोर्ट का वारंट देखा और संदीप की कुंडली खंगाली तो पता चला कि आरोपी संदीप का मुख्यमंत्री, मंत्री, बॉलीवुड स्टार समेत बड़े लोगों में उठना बैठना है. इतना ही नहीं, कई कंपनियों का मालिक है. जब धीरे-धीरे पड़ताल शुरू की तो परतें खुलती गई. पुलिस ने तीन दिन तक दिल्ली के नॉर्थ ब्लॉक में संदीप उर्फ पिंटू सैनी की रेकी की और अहमदाबाद की फ्लाइट पकड़ने पहले उसे धर दबोचा. आरोपी ने खुद की पहचान पार्लियामेंट में चीफ के रूप में बना ली थी, जिससे हर कोई उसके शातिराना अंदाज को समझ ही नहीं पाता था.

दिल्ली दरबार तक थी पहुंच, खुद का बताता था राज्यमंत्री 
पुलिस के मुताबिक, किराए की महंगी और विदेशी कार में सफर करना, फाइव स्टार होटलों में ठहरना, महंगी घड़ियां पहनना इसका शौक था. आरोपी के पास से फर्जी आईडी कार्ड, विजिटिंग कार्ड, चीफ व्हीप पार्लियामेंट (Chief Whip Parliament) लिखा गया विजिटिंग कार्ड मिले हैं. इसके बाद उसके खिलाफ एक और फर्जीवाड़े का मामला दर्ज किया गया है. पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाया तो पता चला कि आधा दर्जन मामले आरोपी के खिलाफ मिले. खुद को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के चीफ व्हीप का चीफ एडवाइजर बताकर संदीप उर्फ पिंटू सैनी ने माहौल बना दिया था कि उसको केंद्रीय राज्य मंत्री का दर्जा है. इसके चलते वह दिल्ली से भी ऐसे कई कागज तैयार करवाकर रखता कि उसे पुलिस से एस्कॉर्ट मिल जाती थी. पुलिस ने दिल्ली, नागपुर, बैंगलोर, मुंबई और हैदराबाद जैसे शहरों में भी खाक छानी, यहां तक की नेपाल तक भी पीछा किया. आखिरकार अहमदाबाद जाते पकड़ में आया.

गोवा और कर्नाटक के सीएम तक हत्या के आरोपी की पहुंच
आरोपी 2011 में यह जनता दल यूनाइटेड का यूथ प्रदेश अध्यक्ष, 2012 में जनता दल यूनाइटेड का प्रदेश अध्यक्ष जबकि 2013 से 2018 तक राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बताता रहा. आरोपी पर सबसे पहला मामला झुंझुनूं कोतवाली का है, जिसमें हत्या का आरोप है और फैसला कोर्ट से आना है.
इसी केस में वारंटी होने के चलते कोतवाली पुलिस को इसकी तलाश थी.संदीप सैनी के खिलाफ कोतवाली में 2017 में जयपुर में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी, 2011 में गबन जैसे मामलों के मुकदमे दर्ज है. संदीप सैनी सोशल मीडिया पर अलग-अलग क्षेत्रों के हस्तियों के साथ अपनी फोटो डालता था, जिसके जरिए वो आसाना से लोगों को बेवकूफ बनाता था. आरोपी के फेसबुक पर गोवा और कर्नाटक के सीएम के अलावा कई प्रदेशों के मंत्रियों तक की फोटो है. संदीप की गिरफ्तारी के बाद कई और मामले से जल्द पर्दा उठेगा.

Reporter- Sujit Kumar Niranjan
Copy- Sujit kumar niranjan 

प्रातिक्रिया दे