Breaking News

Covid-19: Rajasthan में आज से Night Curfew लागू, Active किए जा रहे Quarantine Center

Jaipur: पिंकसिटी में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) दिनों दिन तेजी के साथ खेल रहा है. बावजूद इसके आम जनता द्वारा कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) की अवहेलना की जा रही है. राज्य सरकार के आदेशों के बाद अब जिला प्रशासन भी एक्टिव मोड पर आ गया है. बगराना (Bagrana) में डिएक्टिव पडे क्वारंटीन सेंटर (Quarantine Center) को एक्टिव कर दिया गया है.

यह भी पढ़ें- Coronavirus से जंग लड़ने के लिए Jaipur में बना था यह बड़ा Plan, PM ने भी की थी तारीफ

कोरोना की रफ्तार और राजस्थान (Rajasthan) में बढ़ते केसों को देखते हुए सूबे की गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है. आज से राजस्थान के 8 शहरों में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लागू हो गया. जयपुर जिला प्रशासन कोरोना के केसों को कंट्रोल करने के लिए एक्टिव मोड में आ गया है.  प्रशासन ने आगरा रोड पर बने जेडीए के क्वार्टर (भवनों) को फिर से क्वारंटीन सेंटरों के रूप में शुरू करने का निर्णय किया है. साथ ही कलेक्टर ने तमाम व्यापार संगठनों, स्वयं सेवी संस्थाओं (NGO), औद्योगिक ईकाईयों से जुड़े संगठनों, नगर निगम और पुलिस प्रशासन की बैठक बुला कर कोरोना को कंट्रोल करने को लेकर चर्चा की है.

यह भी पढ़ें- Kishangarh में एक ही परिवार के 5 लोग निकले Corona Positive, मचा हड़कंप

कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा (Antar Singh Nehra) ने बताया कि एयरपोर्ट पर हमने पहले से ही सख्ती कर रखी है और बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की RT-PCR टेस्ट करवा रहे है. अभी तक बाहर से आने वाले 95% लोग बाहर से ही अपने टेस्ट रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं. जो लोग टेस्ट रिपोर्ट नहीं लाते, उनके एयरपोर्ट पर सैंपल लेकर उन्हें होम क्वारंटाइन करवा रहे हैं. RT-PCR की टेस्ट रिपोर्ट आने के बाद संबंधित व्यक्ति जहां रहता है, उसके मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (CMHO) को रिपोर्ट भेजकर उस पर निगरानी करवा रहे हैं.

क्या कहना है कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा का
कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि हमने नगर निगम, पुलिस प्रशासन के साथ ही जिला प्रशासन की टीमों को निर्देश दिए है कि बाजार में बिना मास्क सामान बेचने, घूमने फिरने वालों पर सख्ती करें. जिनके भी मुंह पर मास्क नहीं दिखे, उनका 500 रुपये का चालान काटने के लिए कहा है. साथ ही आज की बैठक में सभी व्यापारियों को स्पष्ट निर्देश दिए जाएंगे कि अगर कोई व्यापारी किसी ग्राहक जिसने मास्क नहीं पहना है और उसे सामान बेचता मिला तो ग्राहक के साथ-साथ व्यापारी का भी चालान काटा जाएगा. नेहरा ने बताया की जयपुर में मुम्बई-पुणे जैसी स्थिति नहीं हो, इसके लिए सभी इंसीडेंट कमाण्डर अपने क्षेत्राधिकार में पूरी निगरानी रखने को कहा है. सभी अधिकारी किसी भी स्थिति-परिस्थिति से निपटने के लिए और कहीं भी कोरोना के अधिक मामले आने पर कन्टेन्मेंट जोन, माइक्रो कंटेनमेंट जोन और अन्य व्यवस्थाओं से सम्बन्धित माइक्रो प्लानिंग तैयार करेंगे.

बहरहाल, जयपुर में जब कोरोना की शुरूआत हुई थी, तब आगरा रोड पर बगराना में क्वारंटीन सेंटर तैयार किए थे, उन्ही सेंटरों को वापस से उपयोग में लिया जाएगा. इन सेंटरों में 2 हजार लोगों को क्वारंटीन रखने का स्पेस है. ज्यादा फोकस होम क्वारंटीन पर ही रहेगा, अगर कोई नहीं मानता या जिसके बाद व्यवस्था नहीं है तो उसे संस्थागत क्वारंटीन किया जाएगा.

प्रातिक्रिया दे