Breaking News

गर्मियों में रोज पीजिए एक गिलास बेल का शरबत, होंगे ये 5 कमाल के फायदे

नई दिल्ली:  पश्चिमी विक्षोभ के चलते कुछ स्थानों पर बारिश हो रही हैं. लेकिन इस बरसात का असर मौसम में पर नहीं पड़ रहा है. धीरे-धीरे गर्मी अपने शबाब पर आने लगा है. गर्मी के बढ़ते ही सड़कों पर गन्ने और बेल जूस वाले ठेले भी नजर आने लगे हैं. गन्ने का जूस आजकल 12 महीने मिल जाता है, लेकिन बेल ऐसा फल है, जो गर्मियों में ही दस्तक देता है. ऊपर से कठोर और अंदर से नरम इस फल को खाया भी जाता है और इसका शरबत बनाया जाता है. कहा जाता है कि गर्मियों में अगर रोज एक गिलास बेल का शरबत पीया जाए, तो कई फायदे होते हैं. आइए जानते हैं…

1. कब्ज की समस्या को रखता है दूर- बेल के शरबत की तासीर ठंडी होती ही है. गर्मियों में इसके सेवन से शरीर में हाइड्रेट रहता है और पेट ठंडा रहता है. इसका सीधा फायदा कब्ज के रोगियों को मिलता है.

2. इम्यूनिटी बढ़ाता है- बेल के शरबत में  प्रोटीन, बीटा-कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन और विटामिन C जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. इसमें से विटामिन C बॉडी की इम्यूनिटी को बढ़ाने में मददगार होता है. अच्छी इम्यूनिटी के साथ शरीर रोगों से लड़ने में सक्षम बनाता है.

3. खून साफ करने में सहायक- खूनी अगर साफ न हो, तो स्कीन कई किस्म की बीमारियां सामने आती है. बाजार में कई किस्म की दवाईयां भी मिलती हैं. लेकिन बेल के शरबत इसका एक नेचुरल विकल्प है. हालांकि, इसके लिए आपको बेल के शरबत में कुछ मात्रा में गर्म पानी मिलाना होगा.

4.दिल की बीमारियों में फायदेमंद- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर बेल के शबरत में कुछ बूंद घी मिलकार एक निश्चित मात्रा सेवन किया जाए, तो इसका फायदा देखने को मिलता है. इससे दिल की बीमारियां दूर रहती हैं.

5. कैंसर में करता है बचाव- बेल का शरबत का सेवन महिलाओं के काफी फायदेमंद होता है. दरअसल, ये ब्रेस्ट कैंसर से बचाव करता है. साथ ही में जो महिलाएं स्तनपान करा रहे हैं, उनके लिए भी बेल का शरबत फायदेमंद होता है. इसके सेवन से ब्रेस्ट मिल्क प्रोडक्शन बढ़ता है.

कौन लोग कर सकते हैं बेल के शरबत का सेवन- बेल के शरबत के सेवन तो वैसे सभी लोग कर सकते हैं. खास कर 30 साल से कम उम्र वाले लोग, जो कुछ भी आसानी से पचा लेते हैं. लेकिन डायबिटीज के मरीजों को रोज सेवन नहीं करना चाहिए. हालांकि, वो बेल खा सकते हैं. लेकिन शरबत में मीठे का इस्तेमाल किया जाता है, जो उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है.

किन बातों का रखें ध्यान- बेल का शरबत पीते वक्त दो बातों का ध्यान रखा चाहिए. पहला ये कि बेल को छांव में रखें.  दूसरी ये कि शरबत में चीनी का इस्तेमाल न करें. अक्सर बाजार में मिलने वाले बेल के शरबत में चीनी का बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है. चीनी के जगह आप गुड़ या खांडसारी/खांड का इस्तेमाल कर सकते हैं.

डिसक्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. अगर आप किसी भी तरह की बीमारी से पीड़ित या परेशान हैं तो इन पर अमल करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें… 

प्रातिक्रिया दे