Breaking News

MP में दिखा Lockdown का असर, सड़कें रहीं सूनी, कलेक्टर-DIG उतरे मैदान में

भोपालः मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों से कोरोना वायरस के मरीजों में लगातार वृद्धि हो रही हैं. इन बढ़ते मरीजों को देखते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार ने कई जिलों में रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लगाया. फिर भी कम नहीं होते मरीजों को देख प्रदेश के तीन बड़े शहरों भोपाल, इंदौर और जबलपुर में रविवार को लॉकडाउन लगा दिया गया. जिसका पालन आज से ही लागू कर दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः- भोपाल समेत इन जिलों में पहला कंप्लीट लॉकडाउन, बाहर जाने वालों से पूछताछ कर रही पुलिस, इन चीजों पर छूट…

अगले आदेश तक हर रविवार लॉकडाउन
प्रशासन ने आदेश जारी करते हुए बताया कि कोरोना मरीजों को देखते हुए अगले आदेश तक हर संडे लॉकडाउन रहेगा. वहीं शनिवार को रात 10 बजे से ही तीनों शहर बंद हैं, रविवार को भी बंद के बाद सोमवार सुबह 6 बजे शहर खुलेंगे. ऐसे में तीनों ही शहरों में 32 घंटे का लॉकडाउन रहेगा.

कलेक्टर-डीआईजी उतरे मैदान में
लॉकडाउन का सख्ती से पालने करवाने राजधानी भोपाल के कलेक्टर अविनाश लावनिया और डीआईजी भोपाल इरशाद वाली ने खुद सड़कों पर उतरकर मोर्चा संभाला. सड़क पर दोनों एक साथ मुआयना करते नजर आए. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान दुकान खुली रखने पर पहली बार 500 का जुर्माना और दूसरी बार गलती करने पर दुकान सील कर दी जाएगी. इस दौरान मास्क और डिस्टेंसिंग भी अनिवार्य हैं.

यह भी पढ़ेंः-CM शिवराज की अपील, 23 मार्च को सुबह 11 और शाम 7 बजे बजेगा सायरन, लोगों को करना होगा यह काम

राजधानी में शनिवार रात से बंद लोग, सुबह निकले दूध लेने
राजधानी भोपाल में शनिवार रात से दुकानों को बंद करने के बाद सन्नाटा छाया रहा. प्रशासन ने दूध, दवाई व जरूरी सेवाओं को छूट दी. जिसके चलते मॉर्निंग वॉक और दूध लेने वाले कुछ लोग दिखे, लेकिन आम दिनों के मुकाबले भीड़ कम रही.

परीक्षा के उम्मीदवारों को नहीं रोका 
शहर में कई स्थानों पर बैरिकेडिंग की गई, गश्त के लिए टीमें शहर भर में घूम रही हैं. करीब तीन हजार पुलिसकर्मियों की टीमें बनाकर लोगों को लॉकडाउन का पालन करने के लिए जागरूक कर रही हैं. वहीं 21 से 26 मार्च तक आयोजित हो रहीं MPPSC Mains परीक्षा के अभ्यर्थियों व उससे जुड़े अधिकारियों को आवागमन की छूट दी गई.

यह भी पढ़ेंः- कांग्रेस बोली- सायरन बजाकर कोरोना को एक्सीडेंट में मारना चाहती है सरकार, BJP MLA ने कह दी ये बड़ी बात

इंदौर में परीक्षार्थियों के लिए चलीं सिटी बसें
इंदौर में MPPSC परीक्षार्थियों के लिए सिटी बसों को चलाया गया. वहीं रविवार को होने वाले शादी-विवाह समारोह के लिए प्रशासन द्वारा छूट दी गई. इस दौरान कार्यक्रम में वर-वधू दोनों पक्षों से 20-20 लोगों व 5 अन्य को शामिल होने की अनुमति दी गई. शहर में पेट्रोल पंप, अनाज मंडियों, फल, राशन की दुकानें, क्लब और पब्लिक पार्क पूरी तरह से बंद कर दिए गए हैं. ज्यादातर शहरवासी गाइडलाइन का जागरूकता से पालन करते नजर आए.

जबलपुर में नजर आ रहीं पुलिस की गाड़ियां
मध्य प्रदेश में पिछले साल सबसे पहला केस जबलपुर से ही आया था. पिछले साल 22 मार्च को लगे जनता कर्फ्यू से सबक लेकर शहर भर के लोग जागरूकता दिखाते हुए गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं. अनावश्यक कोई भी बाहर नहीं निकल रहा, वहीं सूनी पड़ीं सड़कों पर पुलिस की गाड़ियां गश्त लगाते नजर आ रही हैं. सुबह कुछ लोग दूध लेने के लिए निकले थे, लेकिन दोपहर तक सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा.

यह भी पढ़ेंः- महू-धार से दो बार सांसद रहे सूरजभानु सिंह का 60 की उम्र में निधन, दिल्ली में ली अंतिम सांस

अभ्यर्थियों के लिए जारी किए हेल्पलाइन नंबर
जबलपुर में PSC परीक्षार्थियों के लिए रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 6 पर सुबह 7 से 9 के बीच बसें उपलब्ध कराईं. परीक्षार्थियों को वापसी के लिए केंद्र से ISBT तक के लिए बसों की सुविधा दी. अभ्यर्थी इस नंबर 8085922322 पर कॉल कर बसों की जानकारी जुटा रहे थे.

लॉकडाउन में इन स्थानों पर रहीं पाबंदियां

1. स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान 31 मार्च तक बंद रहेंगे
2. जरूरी सेवाओं को छोड़, सभी दफ्तर बंद रखना होंगे
3. व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी बंद रखना होंगे
4. किराना दुकानों भी नहीं खुलेंगी
5. पब्लिक पार्क बंद रहेंगे
6. शराब दुकानों को भी बंद रखा जाएगा

लॉकडाउन में यहां रहेगी छूट
1. मेडिकल स्टोर और अस्पताल खुले रहेंगे
2. प्रतियोगी परीक्षा वाले छात्र एग्जाम दें सकेंगे
3. जरूरी चीजों के परिवहन पर रोक नहीं रहेगी
4. नगर निगम सीमा में सार्वजनिक परिवहन हो सकेगा
5. इंडस्ट्रीज खुली रहेंगी, मजदूर भी काम कर सकेंगे

यह भी पढ़ेंः- भूपेश बघेल सरकार का लाखों कर्मचारियों को होली Gift, तीसरी किश्त के एरियर के भुगतान का आदेश जारी

प्रातिक्रिया दे