Breaking News

महू-धार से दो बार सांसद रहे सूरजभानु सिंह का 60 की उम्र में निधन, दिल्ली में ली अंतिम सांस

धारः मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में महू-धार लोकसभा क्षेत्र (Mhow-Dhar Loksabha Seat) से पूर्व सांसद सूरजभानु सिंह (Suraj Bhanu Singh Died) का निधन हो गया. दिल्ली के अस्पताल (Delhi Hospital) में इलाज के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली. बताया गया है कि उनकी मृत्यु दिल का दौरा पड़ने से हुई. महू-धार क्षेत्र से दो बार सांसद रहे सूरजभान सिंह क्षेत्र में आदिवासी नेता के रूप में विख्यात थे.

यह भी पढ़ेंः- BJP विधायक की​ शिवराज सरकार को चेतावनी- उपेक्षा होती रही तो आवाज बुलंद करेगा महाकौशल

1989 से 1996 में दो बार रहे सांसद
60 साल की उम्र में हृदयाघात से जान गंवाने वाले सूरजभानु सिंह सोलंकी धार-महू लोकसभा क्षेत्र से दो बार सांसद रहे. 1989 से 1996 तक उन्होंने दोनों ही बार कांग्रेस की ओर से चुनाव जीता. 1996 में उन्हें बीजेपी के छतरसिंह दरबार ने महू-धार सीट पर चुनाव हरा दिया. चुनाव हारने के बाद कांग्रेस ने उन्हें फिर इस सीट पर टिकट नहीं दिया.

पायलट भी रहे हैं पूर्व लोकसभा सांसद
4 अप्रैल 1960 को मध्य प्रदेश के गंधवानी में जन्म लेने वाले सूरजभानु सिंह पायलट भी रह चुके हैं. 1989 में पहली बार लोकसभा चुनाव जीतने के बाद 1991 में भी क्षेत्र की जनता ने उन्हें अपना प्रतिनिधि चुना. गंधवानी विकासखंड के मानवा में रहने वाले पूर्व सांसद ने अंतिम बार 2013 में हरसूद विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा, लेकिन वो चुनाव हार गए.

यह भी पढ़ेंः-CM शिवराज की अपील, 23 मार्च को सुबह 11 और शाम 7 बजे बजेगा सायरन, लोगों को करना होगा यह काम

पूर्व सांसद के निधन पर कमलनाथ ने जताया दुख
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने पूर्व सांसद के निधन पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त की.

पिता बने थे मध्य प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री 
सूरज भानु सिंह के पिता शिव भानु सिंह सोलंकी भी धार-महू लोकसभा सीट पर ही चुनाव लड़ते हुए सांसद बने. 1980 में कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कर अर्जुन सिंह को मुख्यमंत्री बनाया. उस दौरान सूरज भानु सिंह के पिता शिव भानु सिंह को प्रदेश का उप मुख्यमंत्री बनाया गया.

यह भी पढ़ेंः- भोपाल से ग्वालियर पहुंचते ही जयारोग्य अस्पताल पहुंचे ऊर्जा मंत्री, गंदगी देख अधिकारियों पर भड़के

प्रातिक्रिया दे