Breaking News

Ranthambore में नम जमीन को पंजों से खोदती दिखी प्यासी बाघिन, नहीं मिला पानी, हुई मायूस

Sawai Madhopur: सवाई माधोपुर स्थित रणथंभौर नेशनल पार्क (Ranthambore National Park) में गर्मी की दस्तक के साथ ही वन्यजीवों के लिए पेयजल संकट गहराने लगा है. पर्यटन की अंधी दौड़ में वनाधिकारियों द्वारा कुछ ही जोनों का ख्याल रखा जा रहा है जबकि अन्य जोन दुर्दशा का शिकार हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें- Sawai Madhopur : Ranthambore National Park से गायब हैं आधा दर्जन बाघ-बाघिन, हड़कंप

इसकी बानगी रणथंभौर के जोन नम्बर दस में देखने को मिली, जहां सूखा कंठ तर करने के लिए बाघिन टी-114 पंजों से नम जमीन को खोदती नजर आई. इसका वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है.

यह भी पढे़ं-Sawai Madhopur: बना रहे हैं Ranthambore National Park का प्लान, तो जानें किस जोन में दिखेगा Tiger

रणथंभौर नेशनल पार्क में पर्यटन क्षेत्र को दस जोनों में विभाजित कर रखा है. जोन एक से छह में आसानी से बाघों को विचरण करते देखा जाता है. इसके चलते इन जोनों पर वनाधिकारियों की खासी नजर रहती है. वहीं, जोन सात से दस में कभी कभार ही बाघों के दीदार होते हैं. ऐसे में इस क्षेत्र पर वनाधिकारियों की कम ही नजर होती है. कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि जोन एक से छह ही वन विभाग की प्राथमिकता है.

वन भ्रमण के लिए आने वाले वीवीआईपी और सैलानियों की भी जोन एक से छह में भ्रमण ही प्राथमिकता होती है. इसका मुख्य कारण इन जोनों में बाघों के आसानी से दीदार होना है. इसके चलते वनाधिकारियों की भी उक्त जोनों पर खासी नजर होती है. वहीं, जोन सात से दस तक कभी कभार ही बाधों के दिखाई देने से वनाधिकारियों की इन जोनों पर कभी कभार ही नजर पड़ती है. इसका खामियाजा यहां विचरण करने वाले वन्यजीवों को भुगतना पड़ता है.

वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि जोन नम्बर दस में बाघिन टी-114 पानी के लिए भटकते हुए एक नाले में पहुंची. यहां पानी की तलाश के लिए बाघिन ने नम जमीन को पंजे से कुरेदा. इसके पास वहां बैठकर जमीन से पानी पीने का प्रयास किया, लेकिन पानी नहीं मिलने पर वहां से जंगल में चली गई. बाघिन का यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

Reporter- Arvind Singh Chauhan

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *