Breaking News

Sachin Vaze-Antilia Case: अनिल देशमुख की कुर्सी जाएगी? शरद पवार ने इन दो मंत्रियों को दिल्ली तलब किया

नई दिल्ली: मुंबई के एंटीलिया-सचिन वाझे मामले (Sachin Vaze-Antilia Case) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) की महा विकास अघाड़ी सरकार पर खतरा पैदा कर दिया है. पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) की ओर से राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर आरोप लगाए जाने के बाद प्रदेश में हालात तेजी से बदल रहे हैं.

शरद पवार ने अपने दो मंत्रियों को दिल्ली बुलाया

प्रदेश सरकार पर बढ़ रहे दबाव के बीच NCP के अध्यक्ष शरद पवार ने उद्धव सरकार (Uddhav Thackeray Government) में शामिल अपने दो मंत्रियों अजित पवार और जयंत पाटिल को बैठक के लिए दिल्ली बुलाया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस बैठक में शिवसेना नेता संजय राउत भी मौजूद रहेंगे. माना जा रहा है कि इस बैठक में अनिल देशमुख पर लगे आरोप के बाद उठाए जाने वाले कदमों को लेकर चर्चा हो सकती है.

किरीट सोमैया ने उद्धव सरकार से मांगा हिसाब

उधर बदलते घटनाक्रमों के बीच बीजेपी ने उद्धव ठाकरे सरकार पर जमकर हमला बोला है. बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने कहा कि सचिन वाझे का वसूली गैंग महाराष्‍ट्र के गृहमंत्री के लिए हर महीने 100 करोड़ की वसूली करता था. उद्धव सरकार को पंद्रह महीने हो गए इसलिए सरकार को पंद्रह सौ करोड़ के भ्रष्‍टाचार का हिसाब देना होगा.

अनुराग ठाकुर ने महाराष्ट्र सरकार पर बोला हमला

वहीं केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि एक सीनियर पुलिस अफसर और पूर्व पुलिस कमिश्‍नर ने राज्‍य के सीएम को पत्र लिखकर गृह मंत्री पर बड़े सवाल उठाए हैं, आरोप लगाए हैं. इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए. अगर मुंबई पुलिस की यह हालत है तो आप महाराष्‍ट्र की कल्‍पना कर सकते होंगे.

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मुंबई में किया प्रदर्शन

उधर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ मुंबई में विरोध प्रदर्शन किया. उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अनिल देशमुख को बर्खास्त करने की मांग की. पुलिस ने विरोध बढ़ने की आशंका देख नागपुर में गृह मंत्री अनिल देशमुख के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी है.

ये भी पढ़ें- मुंबई: पूर्व कमिश्नर और ACP की वह चैट, जिसमें खुला गृह मंत्री Anil Deshmukh के 100 करोड़ मांगने का राज

अनिल देशमुख को बदलने का विचार नहीं

महाराष्ट्र के वित्तमंत्री और  NCP नेता जयंत पाटिल ने साफ कहा कि अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के बदलने पर अभी कोई विचार नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया,’लेटर देख ऐसा लग रहा है कि किसी को खुश करने के लिए लिखा गया है.’  दिल्ली कूच करने से पहले जयंत पाटिल ने पंढरपुर में स्पष्ट किया है कि पूर्व पुलिस आयुक्त के जरिए मुख्यमंत्री को लिखा गया पत्र किसी खास को खुश करने के लिए दिया गया है. इस मामले में अभी जांच चल रही है. वक्त के साथ सब कुछ साफ हो जाएगा. फिलहाल गृह मंत्री को हटाए जाने की न तो कोई चर्चा है और ही इस पर कोई विचार है. सरकार इस मामले की तह तक जाएगी.

ये भी पढ़ें- Maharashtra के गृह मंत्री पर पूर्व सीपी Param Bir Singh का बड़ा आरोप, कहा- हर महीने मांगते थे 100 करोड़

पूर्व कमिश्नर के ‘लेटर बम’ से मची हुई है खलबली

बताते चलें कि मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने आरोप लगाया है कि राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने गिरफ्तार किए गए ASI सचिन वाझे को बुलाकर मुंबई के बार और रेस्टोरेंट से हर महीने 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट दिया था. परमबीर सिंह के इस आरोप के बाद राज्य में राजनीति का पारा चढ़ा हुआ है.

प्रातिक्रिया दे