Breaking News

Alwar: OLX पर ठगी करने वालों को फर्जी Sim बेचने वाला शातिर अपराधी गिरफ्तार

Alwar: इन दिनों ओएलएक्स, फेसबुक, वाट्स्अप के माध्यम से साइबर ठगी (Cyber Cheating) करने वाले गिरोह सक्रिय हैं, जो कि फर्जी नंबरों की सिम से ठगी करते हैं. ऐसे लोगों को दो से ₹3000 में अन्य प्रांतों की सिम बेचने वाला शातिर अपराधी रामगढ़ थाना पुलिस (Ramgarh Thana Police) द्वारा मुखबिर की सूचना पर  गिरफ्तार किया गया है.

यह भी पढे़ं- Alwar: अपराधियों ने शख्स की पीट-पीटकर की हत्या, परिजनों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

शातिर अपराधी के पास जिओ और वोडाफोन आइडिया की 42 फर्जी सिम भी पुलिस ने बरामद की है. फर्जी सिम को दूसरे प्रांतों से सस्ते में मंगा कर दो से ₹3000 में प्रतिदिन के हिसाब से अपराधी बेचा करता था.

यह भी पढे़ं- Ajmer में पुलिस के हत्थे चढ़ी दो महिलाएं, चोरी के 1,51,000 हजार रुपए हुए बरामद

रामगढ़ थाने में कार्यरत हेड कांस्टेबल निजामुद्दीन (Nizamuddin) को सूचना मिली कि ओएलएक्स पर ठगी करने वाले साइबर अपराधियों को फर्जी सिम बेचने वाले शातिर अपराधी के मोबाइल नंबर 7734957501 पर संपर्क किया और दूसरे प्रांत की सिम का डिमांड की. इस पर अपराधी द्वारा व्हाट्सएप चैटिंग पर आने को कहा.

खुद कांस्टेबल ने की अपराधी से बात
कांस्टेबल निजामुद्दीन ने व्हाट्सएप चैटिंग के जरिए बात की तो उसने कहा कि पेटीएम और सीकेवाईसी वाली सिम चाहिए तो उसके पैसे अधिक देने होंगे. निजामुद्दीन में ऐसी सीकेवाईसी की डिमांड की, जिसका सौदा ₹7000 में शातिर ठग से किया.

इस पर सिम बेचने वाले ठग ने पेटीएम या फोन पे से ₹2000 ट्रांसफर करने को कहा. कांस्टेबल निजामुद्दीन द्वारा ₹1000 के फोन पे से ट्रांसफर कर दिए गए और सिम देने को कहा. इस पर ठगने रामगढ़ नौगांवा रोड पर जखोपुर पुलिया पर बुलाया और अपनी बाइक के नंबर 4744 एवं काला कलर बता पहचान बता दी.

इसके बाद सुबह 5:00 बजे के करीब कांस्टेबल निजामुद्दीन अपने साथ कांस्टेबल नरेंद्र को बाइक पर लेकर जकोपुर पुलिया की तरफ गए तो वहां पर बताए गए नंबर की बाइक पर एक शख्स मोबाइल देखने में व्यस्त था. जैसे ही वर्दी में पुलिस को देखा तो भागने की कोशिश की इस पर पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से शातिर ठग को पकड़ सख्ती से पूछताछ की और एड्रेस पूछा तो उसने अपना नाम साहून (24) पुत्र कल्लू जाति मेव निवासी अलावड़ा होना बताया. ठग की तलाशी लेने पर 13 सिम जियो कम्पनी और 29 सिम वोडाफोन आइडिया की जेब से बरामद की. सभी सिमों पर कुछ अंक लिखे हुए थे. इनके बारे में पूछने पर सिम के मोबाइल नंबर और केवाईसी वैरीफिकेशन के लिए आधार के अंतिम चार अंक लिखे हुए होना बताया.

पुलिस द्वारा सिम कहां से खरीद करता है तो उसने पुलिस को एक मोबाइल नंबर बताया और कहा कि इस नंबर से खरीद कर 400 रुपये सिम के हिसाब से फोन पे से भुगतान कर ऊंचे दामों में बेचता हूं. पुलिस द्वारा ठग को गिरफ्तार कर कानूनी कार्यवाही शुरु कर दी ग्ई है.

Reporter- JUGAL GANDHI

प्रातिक्रिया दे