Breaking News

लव जेहाद पर कानून बनाने वाले राज्यों का समर्थन करेगा RSS, सरकार्यवाह Dattatreya Hosabale ने कही ये बात

बेंगलुरु: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के नव निर्वाचित सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले (Dattatreya Hosabale) ने लड़कियों को विवाह और धर्मांतरण के लिए प्रलोभन दिए जाने की कड़ी निंदा की. उन्होंने शनिवार को कहा कि संघ इसके खिलाफ कानून लाने वाले राज्यों का समर्थन करता है. आने वाले दिनों में बौद्धिक अभियान की इस दिशा में काम किया जाएगा जो भारत के विर्मश के बारे में सही जानकारी देने पर टारगेटिड होगा.

‘लव जेहाद’ शब्द का इस्तेमाल RSS नहीं करती

होसबाले ने आगे कहा, ‘अदालतें लव जेहाद शब्द का इस्तेमाल करती हैं, हम नहीं करते. इसमें धर्म का कोई सवाल ही नहीं उठता है. भारत का अपना विमर्श है. इसकी सभ्यता के अनुभव और इसके विवेक को नए भारत के विकास के लिए अगली पीढ़ी तक पहुंचाना होगा. हिंदू समाज में छुआछूत और जाति आधारित असमानता के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए. संघ में ऐसे हजारों लोग हैं, जिन्होंने अंतरजातीय विवाह किए हैं.’

ये भी पढ़ें:- RSS में बड़ा फेरबदल, भैय्याजी जोशी की जगह दत्‍तात्रेय होसबोले बने संघ के नए सरकार्यवाह

‘पिछड़ापन खत्म होने तक आरक्षण की जरूरत’

आरक्षण के मुद्दे पर बोलते हुए होसबाले ने कहा, ‘संविधान में पेड आरक्षण तब तक जारी रहना चाहिए, जब तक कि इसकी समाज में जरूरत है और संघ ने भी इस पर एक प्रस्ताव पारित किया है. हमारा संविधान भी कहता है कि समाज में जब तक पिछड़ापन मौजूद है, तब तक आरक्षण की जरूरत है. आरएसएस भी इसकी पुष्टि करता है.’

ये भी पढ़ें:- फ्री WiFi से पोर्न देखने पर अब होगी कार्रवाई, रेलवे ने जारी की नई गाइडलाइन

‘राम मंदिर निर्माण एजेंडा नहीं, देश की इच्छा है’

इस दौरान उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण पूरे देश की इच्छा है, और महज संघ या किसी एक पार्टी का एजेंडा नहीं है. करोड़ों लोगों ने दलगत भावना से ऊपर उठते हुए राम मंदिर निर्माण का समर्थन किया है. न सिर्फ हिंदू, बल्कि अन्य धर्मों के लोगों ने भी अपना सहयोग दिया है. हाई कोर्ट ने जो कहा है, हम उसका पालन कर रहे हैं. पूरा देश अभियान का हिस्सा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *