Breaking News

शराब के नशे में टल्ली शिक्षक ने स्कूल में मचाया हंगामा, मीडियाकर्मी पहुंचे तो झाड़ने लगा इंग्लिश, जानें फिर क्या हुआ…

बैतूल: हमारे देश में स्कूल को शिक्षा का मंदिर कहा जाता है, जहां गुरु शिक्षा के साथ अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देते हैं, लेकिन जब इस शिक्षा के मंदिर में खुद शिक्षक ही शराब पीकर आने लगे तो बच्चों के भविष्य पर क्या असर होगा? आप अंदाजा लगा सकते हैं. ऐसा ही कुछ मामला बैतूल से सामने आया है, जहां एक शराबी शिक्षक ने सरकारी स्कूल में जमकर हंगामा मचाया. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. शराब के नशे में टल्ली होने के बाद शिक्षक इंग्लिश बोलते हुए नजर आ रहा है. शिक्षक की इस करतूत की शिकायत उच्च अधिकारियों से की गई है.

 शासकीय कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल की घटना
ये पूरी घटना बैतूल के शासकीय कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल से सामने आयी है. जहां वरिष्ठ अध्यापक चिरोंजी लाल नर्रे शराब के नशे में स्कूल पहुंच गए. हद तो तब हो गई जब उन्होंने शिक्षक मनोज आर्य के साथ गाली-गलौज की और उनके साथ मारपीट करने की कोशिश की. घटना की जानकारी लगने पर जब मीडियाकर्मी स्कूल पहुंचे तो शराबी शिक्षक इंग्लिश झाड़ते हुए अपनी स्कूटर उठाकर स्कूल से भाग निकले.

छात्राओं की सुरक्षा को लेकर खड़े हो रहे सवाल
बताया जा रहा है कि शराबी शिक्षक आए दिन शराब के नशे में स्कूल पंहुचते हैं और छात्राओं के सामने भी अपशब्दों का प्रयोग करने लगते हैं. जिला मुख्यालय पर छात्राओं की सुरक्षा और बेहतर शिक्षा के लिए संचालित हो रहे कन्या शाला गंज में लगभग एक हजार छात्राएं शिक्षा ग्रहण करती हैं. ऐसी स्थिति में शराब के नशे में शिक्षक के स्कूल पहुंचने पर छात्राओं की सुरक्षा और उनके भविष्य को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं.

शिक्षक के साथ गाली-गलौच
स्कूल के शिक्षक मनोज आर्य का कहना है कि ‘हम स्कूल आए थे तो वहां नर्रे सर बैठे हुए थे. दारू के नशे में थे. उन्होंने गाली-गलौज की और अपशब्द कहे. मारने पीटने के लिए खड़े हो गए थे. मैंने इस मामले की शिकायत स्कूल की प्रिंसिपल और अधिकारियों को की है.

वरिष्ठ अधिकारियों ने दिया कार्रवाई का भरोसा
इस मामले में शिक्षा विभाग के अधिकारी जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं. सहायक संचालक सुबोध शर्मा का कहना ही कि घटना की जानकारी मिलने पर स्कूल के प्रिंसिपल से प्रतिवेदन मांगा गया है, प्रतिवेदन मिलने पर कार्रवाई की जाएगी. अधिकारी भले ही जांच के बाद कार्रवाई का भरोसा दे रहे हों, लेकिन सवाल यह उठता है कि जब शिक्षक लंबे समय से शराब पीकर स्कूल आ रहे हैं, ऐसे में स्कूल प्रबंधन क्या कर रहा है?

ये भी पढ़ें: न्यायधानी गौरव सम्मान में बोले छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल- समाज के सहयोग से ही शराबबंदी संभव

ये भी पढ़ें: ओलावृष्टि के बाद CM शिवराज ने किया यह ऐलान, बोले- किसान भाई आप बिल्कुल चिंतित न होना

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *