Breaking News

Baran में आए Gangrape के 2 मामले, पुलिस-प्रशासन में मचा हड़कंप

Baran: बारां जिले में शुक्रवार को गैंगरेप के दो मामले दर्ज होने से पुलिस की नींद उड़ गई. एक मामला शुक्रवार शाम को जिले के आदिवासी क्षेत्र शाहाबाद थाने में दर्ज हुआ. यहां एक नाबालिग पीड़िता ने चार लोगों के खिलाफ जबरन उठाकर ले जाने व उसके साथ गैंगरेप (Gangrape) करने का मामला दर्ज कराया. जबकि दूसरा मामला गुरुवार को एक युवती ने दर्ज कराया है. इन दोनों मामलों की जांच भी पुलिस उपाधीक्षक महिला अनुसंधान सेल बारां राकेश शर्मा को सौंपी गई है.

जानकारी के अनुसार, बारां जिले के शाहाबाद थाना क्षेत्र में किशोरी (14) ने शुक्रवार शाम को पिता के साथ थाने पहुंच रिपोर्ट दर्ज कराई. पीड़िता ने आरोप लगाया कि वह बुधवार को जंगल में बकरियां चराने गई थी. शाम को दो मोटरसाइकिलों पर चार युवक आए तथा उसे जबरन मोटरसाइकिल पर बैठाकर घने जंगल में ले गए. यहां चारों ने बारी-बारी से उसके साथ बलात्कार किया. पूरी रात यह लोग उसके साथ बलात्कार करते रहे तथा गुरुवार सुबह उसे मोटरसाइकिल से उसके गांव छोड़ गए. 

ये भी पढ़ें-Jhalawar नाबालिग Gangrape में 4 अन्य आरोपी गिरफ्तार, एक निकला Corona Positive

परिजन इस वारदात से पूरे दिन सदमे में रहे. बाद में उन्होंने शुक्रवार को थाने में पहुंच कर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया. शाहाबाद में महिला चिकित्सक नहीं होने से शानिवार को पीड़िता का बारां जिला चिकित्सालय में मेडिकल कराने के बाद उसे बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया जाएगा. इसके बाद उसके न्यायालय में धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराने के बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी. पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

छबड़ा उप अधीक्षक ओमेंद्र सिंह शेखावत ने बताया कि गुरुवार को पीड़िता (19) ने परिजनों के साथ थाने में पहुंच रिपोर्ट दी कि वह 10 मार्च को घर के बाहर घूम रही थी. इस दौरान नीलकमल कंजर, योगेश कंजर, मिटू कंजर व भूरा कंजर मोटरसाइकिलों से आए और नीलकमल व योगेश ने उसे जबरन मोटरसाइकिल पर बैठा नहर के पास ले गए. 

ये भी पढ़ें-Baran Gangrape में 2 आरोपी गिरफ्तार, पति के सामने ही Ex पति ने की थी घिनौनी हरकत

पीड़िता का आरोप है कि नीलकमल व योगेश ने उसके साथ बलात्कार किया. जबकि बिट्टू और भूरा वहीं खड़े देखते रहे. इसके बाद चारों उसे वहीं छोड़कर फरार हो गए. पीड़िता ने घर पहुंचकर आपबीती परिजनों को बताई. पहले तो परिजन लोकलाज के डर से मुकदमा दर्ज कराने को तैयार नहीं हुए. हालांकि, बाद में पीड़िता के कहने पर गुरुवार को चारों आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया. डीएसपी शेखावत ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल कराया गया है.

(इनपुट-राम मेहता)

प्रातिक्रिया दे