Breaking News

अस्पताल में सुसाइड अटेम्प्टः पांचवीं मंजिल की रेलिंग पर लटका मानसिक रोगी, वार्ड बॉय की सूझबूझ से बची जान

छिंदवाड़ाः मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिला अस्पताल से एक युवक ने आत्महत्या का प्रयास किया. युवक अस्पताल की पांचवीं मंजिल की रेलिंग पकड़कर लटक गया. अस्पताल के वार्ड बॉय ने सूझबूझ दिखाई और उसे बातों में कुछ देर उलझाए रखा. बातों ही बातों में वार्ड बॉय ने युवक को पकड़ लिया और वहां मौजूद लोगों की मदद से पकड़कर उसे ऊपर खींच लाए. पूरी घटना का एक Video भी वायरल हो रहा है.

यह भी पढ़ेंः- महंगी साड़ी खरीदने के बहाने सरकारी अधिकारी ने महिला के साथ किया दुष्कर्म, ऐसे हुआ खुलासा

मानसिक रूप से विक्षिप्त है युवक
छिंदवाड़ा के जुनारदेव में रहने वाला युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया गया है. गुरुवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उसे जनरल मरीजों के साथ पुरुष वार्ड में ही रखा गया. लेकिन अस्पताल में आने के बाद से ही उसकी हरकतें थोड़ी अजीब लग रही थीं.

12 बजे मौका पाकर झूल गया रेलिंग पर
एक दिन अस्पताल में बिताने के बाद शुक्रवार दोपहर करीब 12 बजे वार्ड में उसके पास स्टाफ का कोई भी व्यक्ति नहीं था. तभी वह हॉस्पिटल की पांचवीं मंजिल पर पहुंचा और वहां की रेलिंग पकड़ कर झूल गया. मरीज को अस्पताल के सुरक्षाकर्मी सुभाष आहके और वार्ड बॉय सुनील असराठी ने देख लिया. दोनों ने उसका ध्यान अपनी ओर खींचते हुए बातों में लगाए रखा और बाकी लोगों की मदद से उसे ऊपर खींच लिया. अंत में सुरक्षाकर्मियों ने उसे रस्सी से पकड़कर नियंत्रण में लिया.

यह भी पढ़ेंः- पत्नी ने पति के गुप्तांग पर मारी लात, इलाज के दौरान हुई मौत, नाचने को लेकर हुआ था दोनों के बीच विवाद

नशा छोड़ने के बाद ऐसा लगता है जैसे कोई मार रहा है
युवक का इलाज कर रहे डॉ तुसार तालहन ने युवक के मानसिक रोगी होने की बात कही. वह नशे का आदी भी है. डॉ ने बताया कि नशा छोड़ते ही उसे ऐसा महसूस होता है जैसे उसे कोई मारने आ रहा है. उसी पिटाई से बचने के लिए वह बिल्डिंग से कूदने चल पड़ा. मानसिक रोगी को सामान्य मरीजों के साथ रखने पर डॉक्टर ने कहा कि कोरोना मरीजों के कारण इस तरह की व्यवस्था करनी पड़ रही है.

यह भी पढ़ेंः- MP में कई जगहों पर देर शाम हुई बारिश, इंदौर में गिरे ओले, 25 मार्च बाद होगा मौसम साफ

WATCH LIVE TV

प्रातिक्रिया दे